शराबकांड पर भाजपा को पप्पू यादव ने दिया करारा जवाब, कहा- 'शराब का पूरा कारोबार BJP नेताओं के संरक्षण में चल रहा'

शराबकांड पर भाजपा को पप्पू यादव ने दिया करारा जवाब, कहा- 'शराब का पूरा कारोबार BJP नेताओं के संरक्षण में चल रहा'

पटना. सारण शराबकांड पर भाजपा के नेताओं की बयानबाजी पर जनअधिकार पार्टी (जाप) ने कड़ा पलटवार किया है। पटना में शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने शराब मामले में भाजपा नेताओं को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि छपरा में शराब का पूरा कारोबार वहां के जनप्रतिनिधियों के आड़ में चल रहा है। कहा कि भाजपा के 60 प्रतिशत से ज्यादा जिलाध्यक्ष शराब मामले में पकड़े गये। अब किस मुंह से दूसरों पर आरोप लगा रहे हैं।

पप्पू यादव ने भाजपा सांसद जर्नादन सिंह सिग्रीवाल पर सीधा आरोप लगाते हुए कहा कि शराब कारोबार में लिप्त लोगों का उनसे सीधा रिश्ता है और सिग्रीवाल साहब एसपी पर एफआईआर दर्ज कराने की बात कह रहे हैं। उन्होंने बीजेपी के कई जनप्रतिनिधियों के नाम गिनाये, जिनकी संलिप्तता शराब के मामले में पायी गयी है। उन्होंने इस पूरे कांड में दूधनाथ सिंह, अनिल सिंह, पूर्व मुखिया परमार, धनंजय सिंह, सुमित, संदीप, युवराज और सुधीर की संलिप्ता की जांच कराने की मांग की। उन्होंने कहा कि सभी कारोबारियों को सिग्रीवाल और बीजेपी के अन्य नेताओं का संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने मशरक के सभी पूर्व थानाध्यक्षों की संपत्ति की जांच कराने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि हाजीपुर में शराब के सबसे ज्यादा कारोबारी नित्यानंद राय के संरक्षण में काम कर रहे हैं। शराब मामले में राजीव प्रताप रूडी का नाम आने के बाद भी उन्हें क्यों नहीं सस्पेंड किया गया।

पप्पू यादव ने कहा कि प्रशासन शराब माफियाओं को नहीं रोक पा रही है और ताड़ी बेचने वाले पासी समाज के लोगों को पकड़ रही है। यह सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि गरीब पासी समाज पर हो रहे इस अन्याय के खिलाफ वह आंदोलन करेंगे। जाप सुप्रीमो ने शराबबंदी कानून को लेकर सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग की और एक आम सहमति से निर्णय लेने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि शराब मामले में जेल में बंद लोगों को रिहा किया जाय और शराब बनाने वाले और पिलाने वाले लोगों को पकड़कर सजा दी जाए। इतने लोगों की जान लेने वाले इन लोगों को तीन महीने के अंदर फैसला सुनाकर फांसी की सजा दी जाय।

पप्पू यादव ने घोषणा की कि जिस-जिस घर में मौत हुई है, उसके घर में बेटी की शादी के लिए वह 50-50 हजार रुपये मदद के रूप में देंगे। वहीं तत्काल 10 हजार रुपये देने का ऐलान किया है। इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी के नेताओं को चुनौती दी कि जो लोग चुनाव में लाखों-करोड़ों रुपए खर्च करते हैं, वे इस संकट की घड़ी में मदद के लिए आगे आकर दिखाएं। मौके पर प्रदेश अध्यक्ष राघवेन्द्र कुशवाहा और राष्ट्रीय महासचिव राजेश पप्पू मौजूद थे।

Find Us on Facebook

Trending News