वक्त के नजाकत को समझिये नेता जी,मास्क की जरूरतों को पूरा करने के तरीके और हो सकते हैं,अनुग्रह कीजिये बिहारवासियों पर

वक्त के नजाकत को समझिये नेता जी,मास्क की जरूरतों को पूरा करने के तरीके और हो सकते हैं,अनुग्रह कीजिये बिहारवासियों पर

PATNA : एक तरफ कोरोना वायरस फैलाव रोकने को लेकर सरकार ने पूरे बिहार को लॉक डाउन कर दिया है।मकसद है कि लोगों को घर मे ही रोका जाए।क्यो की इस रोग के फैलाव रोकने का यही सबसे सुरक्षित रास्ता है।

लेकिन पूर्व सांसद पप्पू यादव को तो लगता है नियम पालन करने से कोई मतलब ही नहीं है।ऐसा लगता है कि नियम तोड़ने में उन्हें आनंद की अनुभूति होती है। अब जरा देखिये न ,सुबह-सुबह पप्पू यादव अचानक स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के सरकारी आवास के सामने पहुँच गए और मजमा लगा दिया।पप्पू यादव लोगों की भीड़ इक्कठा कर मास्क बांटने लगे।अब उन्हें कौन समझाए की जिस रोग की रोकथाम के लिए वे मास्क बांट रहे ,दरअसल वह रोग भीड़ से ही फैलती है।

अब वे रोग से लोगों का बचाव कर रहे या फिर रोग का फैलाव यह तो हर कोई समझ सकता है।लेकिन पप्पू यादव हर मामले में अपने लिए राजनीति खोज ही लेते हैं. ये सच है कि बिहार की जनता के लिए प्राकृकिर आपदाओं के बीच पप्पू यादव हमेश खड़े रहते हैं. 

पटना जलजमाव के दौरान पप्पू यादव के काम को सबने सराया भी, मीडिया ने भी बढ़ चढ़कर पप्पू यादव की सराहना की. लेकिन कोरोना के पैर पसारने के बाद पटना में लॉक डाउन है. सरकार बार बार यह निर्देश जारी कर रही है कि सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन किया जाए. ऐसे भी पप्पू यादव को लोगों की जरूरतों को पूरा करने का अलग तरीका अपनना चाहिए ताकि इस महामारी के प्रभाव को कम किया जा सके.

Find Us on Facebook

Trending News