पशुपति पारस की राज्यपाल से मांग- नीतीश सरकार को करें बर्खास्त, सूरजभान ने कहा – मौत बांटने से बढ़िया फिर से चालू हो शराब

पशुपति पारस की राज्यपाल से मांग- नीतीश सरकार को करें बर्खास्त, सूरजभान ने कहा – मौत बांटने से बढ़िया फिर से चालू हो शराब

पटना. केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस ने बिहार के राज्यपाल से राज्य में अविलंब राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है. छपरा शराबकांड में 70 से ज्यादा लोगों की मौत होने के बाद लोजपा (पारस गुट) नेताओं ने शनिवार को धरना दिया. बाद में पार्टी नेताओं ने राज्यपाल फागू चौहान से मिलकर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा जिसमें 7 बिन्दुओं को उजागर करते हुए राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग भी शामिल है. पशुपति पारस ने कहा कि बिहार में आए दिन शराब से लोगों की मौत हो रही है. इसलिए उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की और ज्ञापन सौंपा. 

सांसद प्रिंस राज ने कहा कि बिहार में फिर से जंगलराज पार्ट 2 शुरू हो गया है. कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल है. शराबबंदी के बाद भी आए दिन लोगों की मौत हो रही है. इसीलिए हमें राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें सात बिन्दुओं पर एक ज्ञापन सौपा है. इसमें शराब से होने वाली मौतों को लेकर न्यायिक जांच कराने की मांग की गई है. साथ ही अगर राज्य में शराबबंदी है तो इसे पूर्ण रूप से लागू किया जाए अन्यथा इसे खत्म किया जाए. 

वहीं पूर्व सांसद बाहुबली सूरजभान सिंह ने कहा कि बिहार में शराबबंदी पूरी तरह से फेल हो चुकी है. अब यह सरकार के वश की बात नहीं रह गई है कि वह इसे ठीक से लागू रख पाए. इसलिए अगर शराबबंदी संभल नहीं रहा है तो वे इसे फिर से चालू कर दें. उन्होंने कहा कि शराबबंदी के कारण समाज में कई प्रकार की बुराइयाँ व्याप्त हो रही हैं. बेरोजगारी के कारण यह तस्करों के लिए धंधा बन गया है. इसलिए जरूरत है कि शराबबंदी पर ठीक से अध्ययन किया जाए. नीतीश कुमार जिद पर ना अड़े. वे इसकी खामियों को देखे. सूरजभान ने शराब पीकर मरने वालों के लिए मुआवजा जारी करने की भी मांग की. 

इसके पहले पार्टी के नेताओं ने धरना दिया. उन्होंने लोजपा ने बिहार सरकार को बर्खास्त करने, दलित-पिछड़ों को नरसंहार बंद करने और जहरीली शराब पिलाना बंद करने की मांग की. इस दौरान नीतीश सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की गई.


Find Us on Facebook

Trending News