यात्रीगण कृप्या ध्यान दें : यदि आप त्योहारों में घर आ रहे हैं, तो पहले जान लें यह जरूरी खबर, वरना कट जाएगी आपकी जेब

यात्रीगण कृप्या ध्यान दें : यदि आप त्योहारों में घर आ रहे हैं, तो पहले जान लें यह जरूरी खबर, वरना कट जाएगी आपकी जेब

N4N DESK: ट्रेन में बेटिकट यात्रा करना तो गैरकानूनी है ही। हालांकि रोजाना सफर करने वाले और कई बार आपाधापी में लोग बिना टिकट लिए ही ट्रेन में सवार हो जाते हैं। जिसके बाद शुरू होता है टीटीई से लुकाछिपी का खेल। ज्यादातर मामलों में तो बिना टिकटधारी टीटीई के हत्थे चढ़ ही जाते हैं, जिसके बाद उन्हें भारी-भरकम जुर्माना वसूलना पड़ता है।

बात करेंगे आने वाले त्योहारी सीजन की, तो इसको लेकर बड़े पैमाने पर ही टिकट चेकिंग का बड़ा अभियान शुरू होने वाला है। इस अभियान का मकसद है बेटिकट यात्रा करने वालों से दोगुना जुर्माना वसूलना। इसके लिए बकायदा हर टीटीई को एक टारगेट दे दिया गया है। इससे बचने के लिए सबसे पहले तो आपको टिकट अपने साथ रखना होगा। इसके अलावा वैध पहचान पत्र का होना भी काफी जरूरी है। अगर इन दोनों में आप जरा भी चूकें, तो टीटीई आपसे जुर्माना वसूलने से नहीं चूकेंगे। बगैर टिकट यात्रियों पर नकेल कसने के लिए दानापुर रेल मंडल की ओर से टिकट जांच में सख्ती करने का निर्देश दिया गया है। 

दानापुर रेल मंडल मुख्यालय की ओर से टिकट निरीक्षकों को प्रतिदिन कम से कम 3000 बेटिकट यात्रियों से जुर्माना वसूलने का निर्देश दिया गया है। इससे रेलवे को प्रतिदिन 12 से 15 लाख रुपये के अतिरिक्त राजस्व की प्राप्ति की उम्मीद है। आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, दानापुर मंडल के दानापुर, पटना जंक्शन व राजेंद्र नगर के साथ ही किउल व झाझा में विशेष स्क्वायड की तैनाती टिकट जांच के लिए की गई है। दानापुर मंडल मुख्यालय की ओर से अपना स्क्वायड गठित किया गया है। सभी स्टेशनों पर तैनात टिकट संग्राहकों को भी लक्ष्य दिया गया है। लक्ष्य से कम वसूलने वालों को दंडित करने एवं अधिक वसूलने वालों को पुरस्कृत करने को कहा गया है। एसीएम स्तर के एक अधिकारी को प्रतिदिन मॉनिटरिंग कर रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है।

इनसब के अलावा, इन खास बातों का भी रखें ध्यान-

  1. फिलहाल केवल स्‍पेशल ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। ट्रेनों के किराए में इसके अनुसार भिन्‍नता है।
  2. लंबी दूरी की ट्रेनों में बिना रिजर्वेशन यात्रा नहीं कर सकते हैं। ऐसी ट्रेनों के जनरल कोच में भी यात्रा के लिए पहले से आरक्षण कराना जरूरी है।
  3. वेटिंग टिकट नहीं है मान्‍य। वेटिंग टिकट पर यात्रा करने पर आपको बेटिकट ही माना जाएगा। आरएसी या कंफर्म बर्थ वाले ही रिजर्वेशन वाले कोच में सवार हो सकते हैं।
  4. टिकट में दर्ज श्रेणी वाले कोच में ही यात्रा करें। रेलवे की ओर से जनरल, स्‍लीपर और एसी के अलग-अलग दर्जों के अलावा अलग-अलग ट्रेनों के लिए भी अलग टिकट जारी किए जा रहे हैं।
  5. कम दूरी की मेमू और डेमू जैसी ट्रेनों में साधारण टिकट पर भी यात्रा कर सकते हैं। ऐसी ट्रेनों की सही जानकारी आपको टिकट काउंटर से मिल सकती है।
  6. ज्‍यादातर मेमू पैसेंजर ट्रेनों में भी लग रहा है एक्‍सप्रेस का किराया। कुछ मेमू और डेमू ट्रेनें ही सामान्‍य पैसेंजर के किराए पर चलाई जा रही हैं। इनके बारे में जानकारी टिकट बुकिंग काउंटर पर उपलब्‍ध है। स्पेशल अनारक्षित ट्रेनों में यूटीएस एप से टिकट बुक करने पर पैसेंजर ट्रेन के लिए भी एक्‍सप्रेस का ही टिकट बुक करना होगा।
  7. ट्रेन में चलने के लिए अपने साथ वैध फोटो पहचान पत्र जैसे वोटर आइडी या आधार कार्ड जरूर साथ रखें। बगैर पहचान पत्र के आरक्षित कोच में यात्रा कर रहे यात्री को बेटिकट माना जाता है।

Find Us on Facebook

Trending News