पटना एम्स के डॉक्टर ने सरहज के मोबाइल का 5 मिनट इस्तेमाल किया, बेचारा साला गया फंस,डॉक्टर साहब हो गए फरार

पटना एम्स के डॉक्टर ने सरहज के मोबाइल का 5 मिनट इस्तेमाल किया,  बेचारा साला गया फंस,डॉक्टर साहब हो गए फरार

PATNA : पटना एम्स के चिकित्सक परेशान थे चुकि एक मेल से आपत्तिजनक मैसेज भेजा गया था। आश्चर्यजनक बात यह है मेल सिर्फ चिकित्सकों के निजी मेल पर ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य मंत्रालय के सरकारी मेल पर भी आया था। यह सिर्फ पुरुष चिकित्सकों के साथ  ही नहीं हुआ था बल्कि एम्स की महिला डॉक्टर के मेल पर भी मैसेज आ चुका था। सरकारी से लेकर तमाम पदाधिकारियों एवं चिकित्सकों के मेल पर आपत्तिजनक मेल आने से हड़कंप मच गया। अंत मे एम्स प्रशासन ने साइबर सेल में शिकायत करने का निर्णय लिया।

एम्स के उपनिदेशक परिमल सिन्हा के लिखित शिकायत शिकायत पर जब साइबर सेल के अफसरों ने अनुसंधान शुरू किया तो पूरे मामले का खुलासा हो गया। साइबर सेल के अनुसंधान के बाद जो जानकारी आई वह काफी चौकाने वाला था।

जांच में यह बात सामने आ गई की एम्स के ही एक चिकित्सक जो एक विभाग के विभागाध्यक्ष भी है उन्ही के द्वारा यह काम किया जा रहा है।

साइबर सेल ने जब आपत्तिजनक मेल आने की गहराई से छानबीन की तो पता चला की आपत्तिजनक मैसेज भट्टाचार्य रोड के एक अपार्टमेंट में रहने वाले दीपक कुमार के मोबाइल से भेजा गया है। पुलिस ने दीपक को हिरासत में लेकर जब पूछताछ की तो पता चला कि वह एम्स के एक चिकित्सक का साला है।

उसने जो बताया वह और आपत्तिजनक था। दीपक ने पुलिस को बताया कि उसके रिश्तेदार 1 दिन घर पर डिनर के लिए आए थे। उन्होंने अपना मोबाइल खराब होने का बहाना बनाकर मेरी पत्नी के मोबाइल से कुछ मैसेज भेजा था,लेकिन उस समय किसी को भी थोड़ा सा भी शक नहीं हुआ।

उसने बताया अब अहसास हो रहा है कि उसकी पत्नी का मोबाइल मांग कर उसके रिश्तेदार चिकित्सक ने अपने सहकर्मियों को आपत्तिजनक मैसेज भेजे हैं।

इसके बाद साइबर सेल ने आरोपी चिकित्सक के मोबाइल का सीडीआर निकाला तो पता चला वाकई चिकित्सक उस दिन भट्टाचार्य रोड में थे। डॉक्टर साहब की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है लेकिन डॉक्टर साहब फरार हैं।


Find Us on Facebook

Trending News