नम आंखों से मां की विदाई, बड़ी देवी और छोटी देवी के खोइछा मिलन में उमड़ा जनसैलाब

PatnaCity: पटना सिटी के सदियों पुराणी परम्परा के बीच एक बार फिर से ऐतिहासिक खोइछा मिलन समारोह का गवाह बना. हजारों की संख्या में श्रद्धालु खोइछा मिलन देखने जुटे. मान्यता रही है कि मारूफगंज स्थित बड़ी देवी बड़ी बहन हैं जबकि महाराजगंज देवी छोटी बहन हैं.  विजयदशमी के दिन बेलवरगंज में मारूफ गंज देवी और महाराजगंज देवी का खोइछा मिलन होता है. यहां पर दोनों देवियां जुटती हैं. उनके खोइछा की अदला-बदली होती है जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं.

दो बहनों का प्यार और सदियों पुराणी परंपरा 

खोइछा मिलन देखना  बहुत ही सौभाग्यशाली माना जाता है. शुक्रवार की देर रात पटना सिटी स्थित मारूफ गंज देवी और महाराजगंज देवी का खोइछा मिलान हुआ.परंपरा के मुताबिक़ पहले मिलन स्थल पर छोटी बहन अपनी बड़ी बहन का इंतजार करती रही, देर रात मारूफगंज की देवीजी जैसे ही पहुँची लोग जय जयकार करने लगे,खौइचा मिलन के बाद बड़ी बहन भद्र घाट के लिये आगे बढ़ी. इसके बाद  सबसे पहले मारूफ गंज बड़ी देवी को विसर्जन के लिए ले जाया गया उनके पीछे पीछे उनकी छोटी बहन महाराजगंज छोटी देवी को ले जाया गया. इस अवसर पर श्रद्धालुओं के आस्था उन का उत्साह देखते बन रहा था। इस अवसर पर बड़ी संख्या में पुलिस की भी तैनाती की गई थी.

Find Us on Facebook

Trending News