बिहार में फार्मासिस्टों की कमी पर पटना हाई कोर्ट ने जताई नाराजगी, 24 जून तक कार्रवाई का दिया निर्देश

बिहार में फार्मासिस्टों की कमी पर पटना हाई कोर्ट ने जताई नाराजगी, 24 जून तक कार्रवाई का दिया निर्देश

PATNA: बिहार में स्थित सरकारी अस्पतालों और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में फार्मासिस्टों की भारी कमी है. इस मामले को लेकर शुक्रवार को पटना उच्च न्यायालय में सुनवाई की गई. 

जस्टिस ज्योति शरण और जस्टिस अंजनी कुमार शरण की बेंच ने मामले की सुनवाई करते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की. इस मामले को लेकर उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को एक्शन प्लान बनाने का निर्देश दिया है. साथ ही पूछा है की कब तक खाली पड़े पदों पर भर्ती कर ली जाएगी. 

जस्टिस ज्योति शरण और जस्टिस अंजनी कुमार शरण की बेंच ने मामले को गंभीर बताते हुए कहा की तृतीय और चतुर्थ वर्ग के कर्मचारी मरीजों को दवाइयां दे रहे हैं. जिससे किसी की जान भी जा सकती है. इसकी जिम्मेवारी राज्य सरकार की है. मामले की अगली सुनवाई 24 जून को की जाएगी.  

बताते चलें की राज्य में फार्मासिस्टों के 4 हजार पड़ स्वीकृत हैं, जिसपर मात्र 750 फार्मासिस्ट ही कार्यरत हैं.     

Find Us on Facebook

Trending News