आदेश की अवहेलना पर पटना हाईकोर्ट हुआ सख्त, कटिहार के तत्कालीन एसपी सिद्धार्थ एम जैन की गिरफ्तारी का जमानती वारंट किया जारी

आदेश की अवहेलना पर पटना हाईकोर्ट हुआ सख्त, कटिहार के तत्कालीन एसपी सिद्धार्थ एम जैन की गिरफ्तारी का जमानती वारंट किया जारी

पटना. हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी कोर्ट में उपस्थित नहीं होने पर कोर्ट ने कटिहार के तत्कालीन एसपी सिद्धार्थ एम जैन के खिलाफ गिरफ्तारी का जमानती वारंट जारी किया है। जस्टिस संदीप कुमार ने राज्य सरकार को कहा कि उन्हें हर हाल में 8 सितंबर 2022 को अदालत में पेश किया जाए।

ये मामला किसी भी अभियुक्त को गिरफ्तार करने के पूर्व और बाद में सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी दिशा निर्देश को नजरअंदाज किये जाने का है। कोर्ट ने मेघु दास एवं अन्य की और से अदालती आदेश की अवमानना को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई की। कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट द्वारा जारी किये गए दिशा निर्देश का उल्लंघन कर अभियुक्त को गिरफ्तार कर जेल भेजने को काफी गम्भीरता से लिया।

कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए कटिहार के तत्कालीन एसपी सिद्धार्थ मोहन जैन समेत डीएसपी और नगर थाना के एसएचओ को 1 सितंबर को कोर्ट में तलब किया था। अदालती आदेश के बाद कटिहार के तत्कालीन एसपी सिद्धार्थ मोहन जैन को छोड़ कर डीएसपी और नगर थाना कटिहार के एसएचओ कोर्ट में उपस्थित थे।

कोर्ट को राज्य सरकार की ओर से बताया गया कि कटिहार के तत्कालीन एसपी सिद्धार्थ मोहन जैन की प्रतिनियुक्ति केन्द्रीय गृह मंत्रालय में कर दी गई है। उन्हें 30 अगस्त को ही हाई कोर्ट के आदेश की जानकारी दे दी गई है। उन्होंने कोर्ट को बताया कि पुलिस सुप्रीम कोर्ट के नियमों की अनदेखी हर मामले में कर रही है, जो सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना है। इस मामले पर फिर 8 सितंबर 2022 को सुनवाई की जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News