कोरोना इलाज के नाम पर प्राइवेट अस्पतालों की वसूली पर एक्शन, अस्पतालों में तैनात किए गए पदाधिकारी

कोरोना इलाज के नाम पर प्राइवेट अस्पतालों की वसूली पर एक्शन, अस्पतालों में तैनात किए गए पदाधिकारी

पटना जिले में कोरोना इलाज के लिए मनमाना राशि लिये जाने की जानकारी मिलने के बाद जिलाधिकारी कुमार रवि के निर्देश पर तमाम निजी अस्पतालों में डिप्टी कलेक्टर व मजिस्ट्रेट रैंक के पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति कर दी गयी है. 

इन पदाधिकारियों को निजी अस्पतालों पर नजर रखने को कहा गया है और मनमाना राशि लिये जाने पर उसकी रिपोर्ट बना कर अवगत करने का जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है. अभी तक कोरोना इलाज के लिए जिला प्रशासन की ओर से 32 निजी अस्पतालों को अनुमति दी गयी है.

इन सभी अस्पतालों पर नजर रखने के लिए एक दर्जन से अधिक पदाधिकारियों की तैनाती की गयी है. जिस इलाके में दो-तीन निजी अस्पताल एक साथ हैं, वहां एक ही पदाधिकारी को प्रभारी बनाया गया है. इनके अलावे अनुमंडल पदाधिकारी को नजर रखने का निर्देश दिया गया है. हालांकि इन पदाधिकारियों के माध्यम से अभी किसी भी अस्पताल के खिलाफ रिपोर्ट नहीं भेजी गयी है.  

पटना प्रशासन की ओर से बताया गया है कि इन तमाम अस्पतालों पर नजर रखी जा रही है और वहां पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति कर प्रभारी बना दिया गया है. उन्हें बताया गया है कि अगर अधिक राशि लिये जाने की जानकारी मिलती है, तो इस बात की जानकारी तुरंत दी जाये. उन्होंने बताया कि फिलहाल प्रतिनियुक्त किये गये पदाधिकारियों के माध्यम से किसी भी निजी अस्पताल के खिलाफ मनमानी किये जाने की जानकारी नहीं मिली है.

Find Us on Facebook

Trending News