पटना की हालात पर सीएम और डिप्टी सीएम अलग-अलग ले रहे बैठक! सुशील मोदी ने आज बीजेपी कोटे के मंत्रियों-विधायकों और अधिकारियों के साथ की मीटिंग

पटना की हालात पर सीएम और डिप्टी सीएम अलग-अलग ले रहे बैठक!  सुशील मोदी ने आज बीजेपी कोटे के मंत्रियों-विधायकों और अधिकारियों के साथ की मीटिंग

PATNA: राजधानी पटना में सुशासन  पानी-पानी  हो गया है।पूरे देश में भद्द पिटने के बाद अब बैठकों का दौर जारी है। बीजेपी के प्रदेश से लेकर कई मंत्रियों ने नीतीश सरकार पर जोरदार हमला बोला है।बीजेपी का मानना है कि पटना में जो आपदा आई है वो मानवजनित है न कि प्राकृतिक आपदा। इधर पटना में जलजमाव से निपटने को लेकर सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी अलग-अलग बैठक कर रहे।डिप्टी सीएम ने आज बीजेपी कोटे के मंत्रियों को अपने दफ्तर बुलाया।इसके बाद  अपने दफ्तर में  पटना के विधायकों और आलाधिकारियों के साथ बैठक कर हालात से निबटने को लेकर कई निर्देश दिए।

उपमुख्यमंत्री ने अपने कार्यालय कक्ष में पथ निर्माण मंत्री नन्द किशोर यादव, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय, नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा, स्थानीय विघायकों, पटना नगर निगम, बुडको तथा स्वास्थ्य व नगर विकास विभाग के आला अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक कर जल जमाव प्रभावित इलाकों से पानी की निकासी, सम्प हाउस तथा ब्लिचिंग पावडर व दवाओं के छिड़काव आदि की सघन समीक्षा की।

अधिकारियों ने जानकारी दी कि पटना नगर निगम की 75 टीम ब्लिचिंग पावडर व दवाओं का छिड़काव कर रही है वहीं स्वास्थ्य विभाग की 25 टीम ब्लिचिंग पावडर का पैकेट स्लम एरिया में वितरण कर रही हैं। पटना नगर निगम ने जानकारी दी कि बुधवार को जहां जलजमाव वाले क्षेत्रों से 29 वहीं गुरुवार को बांकीपुर व कंकड़बाग इलाके से 34 मरे हुए जानवरों को निकाला गया। शुक्रवार से टीमं की संख्या बढ़ाने व छिड़काव में और तेजी लाने तथा सड़कों से कूड़ों की सफाई का निर्देश दिया गया। स्वास्थ्य विभाग 22 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, 13 शिविरों के जरिए जरूरी दवाओं का वितरण करने के साथ शहर के 25 पूजा बड़े पंडालों में आवश्यक दवाओं के साथ चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों की टीम तैनात करेगा। 

तेजी से पानी की निकासी के लिए कोल इंडिया, एनटीपीसी और कल्याणपुर सिमेंट से मंगाए गए उच्च क्षमता के पम्प को सैदपुर, रामपुर, बकरी बाजार, पाटलिपुत्रा काॅलोनी, भूतनाथ रोड, टीवी टाॅवर आदि इलाकों में स्थापित किए गए हैं। कंकड़बाग और राजेन्द्र नगर जैसे सर्वाधिक प्रभावित इलाकों से तेजी से पानी निकल रहा है। मुहल्लों के अंदर की सड़कों व गलियों में जमे पानी को छोटे-छोटे पम्पों के जरिए निकालने का प्रयास और तेज कर दिया गया है। 

बैठक में विद्यायक अरुण कुमार सिन्हा, नितिन नवीन, संजीव चैरसिया, पटना की मेयर श्रीमती सीता साहू के साथ ही नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार व नगर आयुक्त अमित कुमार पाण्डेय मौजूद थे।

Find Us on Facebook

Trending News