पटना के इस पंचायत में चलता था नक्सलियों का सिक्का, एक दिन में हुई थी 15 हत्याएं

पटना के इस पंचायत में चलता था नक्सलियों का सिक्का, एक दिन में हुई थी 15 हत्याएं

patna : बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाला है जिसे लेकर बिहार की तमाम पार्टी अपने स्तर से चुनावी तैयारी में लगी हुई है।सूबे में अभी एनडीए की सरकार पिछले 15 सालों है। वर्तमान सरकार राज्य में विकास की दावा करते आ रही है। क्या विकास की किरण अंतिम पायदान तक पहुंच रही है या नही। इसे पंचायत स्तर पर देखने समझने की जरूरत है।

आज ऐसे ही एक पंचायत के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जो पिछले कई सालों से उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के रूप में जाना जाता था और नक्सलवादी संगठन का पूरे इलाके में कब्जा रहा करता था। दरअसल राजधानी पटना से सटे नौबतपुर प्रखंड मुख्यालय से लगभग 10 किलोमीटर दूर बारा पंचायत के बारे में बताने जा रहे हैं जो पिछले कई सालों से पंचायत मे नक्सल वादी संगठनों का बोलबाला रहा करता था जिसके चलते गांव के और पंचायत के लोग काफी डरे और सहमे रहते थे। इस क्षेत्र को नक्सलाइट क्षेत्र के नाम से भी जाना जाता था। दर्जनों हत्या इस पंचायत में हो चुकी हैं। बारा पंचायत में वर्ष 2002 में पुलिस पिकेट लूट कांड बहुत सुर्खियों में रहा था। लेकिन नीतीश सरकार के 15 सालों में अब यह क्षेत्र विकास की ओर बढ़ रही है खासकर नीतीश सरकार की महत्वकांक्षी योजना में से एक सात निश्चय योजना भी इस पंचायत में काफी तक पूरा हो चुका है और नक्सलाइट या नक्सलवाद जैसे संगठन इस पंचायत से खत्म हो चुकी है और पंचायत के लोग अमन चैन की सांस लेते हुए अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं साथ ही सरकार के द्वारा चलाए जा रहे तमाम योजनाओं से इस पंचायत में कार्य काफी पूरा हो चुका है और कुछ कार्य जारी भी है। बता दें कि बारा पंचायत नौबतपुर प्रखंड सीमा का अंतिम पंचायत है इस पंचायत में 8 गॉव आते हैं जिसमे बारा,  पनहारा, मलाहीखन्दा, बरुणा, बेला, तरारी, सलारपुर, छक्कनबीघा है इस पंचायत की (2011 के अनुसार) वर्तमान आबादी लगभग 12 हज़ार है। लेकिन काफी साल पहले इस पंचायत को नक्सलाइट क्षेत्र के नाम से जाना जाता था और शाम होते ही आए दिन किसी न किसी की हत्या हुआ करती थी वो चाहे दिन हो या रात। 


वैसे बता दे कि इस पंचायत में एक दिन में 15 हत्याएं भी हो चुकी थी जिसके कारण यह पंचायत पूरे बिहार में नक्सलाइट एरिया के नाम से विख्यात हो चुका था। काफी साल से इस पंचायत में नक्सलाइट का राज चला जिसके कारण आम आदमी का जीना मुश्किल हो चुका था। लेकिन पिछले 15 सालों में इस पंचायत का विकास काफी तेजी से हुआ और नक्सलाइट, नक्सलवाद जैस नाम से जाने जा रहे बारा पंचायत को अब नया नाम के साथ नई पहचान भी मिल चुका है।

 वैसे बता दे कि नौबतपुर प्रखंड  बिक्रम विधानसभा में आता है और अभी वर्तमान में विधायक कांग्रेस पार्टी से सिद्धार्थ सिंह हैं।इस पंचायत में विधायक की तरफ से भी कई सड़कें का निर्माण भी कराया गया है हालांकि कुछ निर्माण अभी अधूरे हैं जिसको लेकर ग्रामीणों में काफी आक्रोश भी है और इस बार चुनाव को लेकर कई तरह की बातें भी चल रही है वहीं ग्रामीणों का कहना है कि पिछले कई सालों से इस पंचायत में नक्सलवाद का राज रहा करता था जिसके कारण हम सभी लोग घर से निकलना मुश्किल हो चुका था शाम होते ही इस क्षेत्र में हत्या लूट जैसी वारदात बढ़ जाती थी लेकिन पिछले 15 सालों में नीतीश के सरकार में इस पंचायत में मुख्य सड़क से लेकर पंचायत के तमाम गांव में सर के बनी तमाम योजनाओं से इस पंचायत को लाभ मिला और अभी भी कई योजनाएं का काम और निर्माण जारी है। 


साथ ही पंचायत के लोगों का कहना है कि पिछले 4 सालों में वर्तमान मुखिया  रूपक शर्मा के नेतृत्व में काफी विकास हुआ है और सरकार के द्वारा चलाए जा रहे तमाम योजनाओं से गांव के लोगों को काफी लाभ भी मिला है। वही बारा पंचायत के वर्तमान मुखिया रूपक शर्मा बताते हैं कि पिछले कई सालों तक इस पंचायत में नक्सली का कब्जा हुआ करता था और आए दिन लोगों की हत्या हो जाती थी वह चाहे दिन हो या रात। लेकिन अब इस पंचायत में ना कोई नक्सली है और ना ही ऐसा कोई संगठन यहां के लोग अब खुशी से भाई-चारे के साथ अपनी जीवन व्यतीत कर रहे हैं वहीं उन्होंने यह भी बताया कि पिछले 4 सालों में सरकार की तमाम योजनाओ से इस पंचायत में कार्य हुआ है और जो कार्य अभी अधूरे हैं उसका भी कार्य निर्माण चल रहा है और बहुत जल्द पूरा भी हो जाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News