जलजमाव को लेकर पटना नगर निगम ने कसी कमर, वार्डों में मजदूरों और मशीनों से हो रही है जलनिकासी

जलजमाव को लेकर पटना नगर निगम ने कसी कमर, वार्डों में मजदूरों और मशीनों से हो रही है जलनिकासी

PATNA : मॉनसून में भारी वर्षा की वजह से राजधानी पटना के कई क्षेत्र जलजमाव की समस्या से जूझ रहे हैं. पटना नगर निगम की ओर से अंचल स्तर पर विभिन्न दलों और मशीनों की सहायता से जलजमाव की समस्या दूर करने का काम लगातार जारी है. इसके अतिरिक्त प्रत्येक वार्ड में रोस्टर के आधार पर नियमित फॉगिंग कराई जा रही है. वहीं अधिकारियों और अभियंताओं की टीम क्षेत्र का दौरा कर पानी निकासी का यथोचित बंदोबस्त कर रही है. 

कंकड़बाग अंचल

कंकड़बाग अंचल में प्रत्येक वार्ड में 10-10 मजदूर जलजमाव की समस्या हेतु नियुक्त किए गए हैं. इसके अलावा 10 HP के बारह, 22 HP और 38 HP के एक-एक मोटर पंप से जलनिकासी की जा रही है. जिन इलाकों में जलजमाव ज्यादा है वहां जेटिंग मशीन और सुपर सकर मशीनों से काम लिया जा रहा है. वर्षा रुकते ही सभी गटर और सर्विस नालों पर जमा कचरे को बॉबकैट, पोकलैंड और सफाई कर्मियों के जरिये साफ किया जा रहा है. जिन इलाकों में नालों की कमी की वजह से जल जमाव हो रहा है, वहां अस्थाई तौर पर कच्चा नाला काट कर विकल्प तैयार किया जा रहा है. वार्ड संख्या 30 में प्रगति नगर सिपारा में कच्चा नाला बनाने का कार्य प्रारंभ किया गया है. रामचक बैरिया में भारी वर्षा की वजह से कीचड़ हो जाने के कारण कूड़ा ले जाने वाली गाड़ियों का आवागमन अवरुद्ध हो रहा है. इसके मद्देनजर डंपिंग ग्राउंड तक रबिश डालकर सड़क मजबूत बनाई जा रही है.

बांकीपुर अंचल

बांकीपुर अंचल में कुल 12 मोटर पंप (22 HP के तीन, 38 HP का एक, 10 HP के 7 और 5HP का एक) से जल निकासी की जा रही है. इसके अतिरिक्त 5-5 HP के पांच मोटर पंप किराए पर लिए गए हैं. प्रत्येक वार्ड में 5-5 मजदूर जलनिकासी के कार्य में तैनात हैं. ‘नमामी गंगे’ परियोजना के अंतर्गत L&T की ओर से कई जगहों पर सड़कों पर खुदाई की गई है जिसकी वजह से जल जमाव की समस्या बढ़ी है. वार्ड संख्या 47 में जलजमाव की समस्या सबसे ज्यादा है. रोड संख्या 13 B, राजेंद्र नगर में कच्चा नाला तैयार करने का कार्य शुरू किया गया है. साथ ही 12 हैंडफॉगिंग मशीन और एक ऑटो माउंटेड फॉगिंग मशीन से वार्डों में रोस्टर के आधार पर फॉगिंग का काम भी लगातार जारी है.

पाटलिपुत्र अंचल

पाटलिपुत्र अंचल में जलजमाव की स्थिति में जल निकासी हेतु 5-5 मजदूर तैनात किये गए हैं. जगदेव पथ, दीघा-आशियाना रोड, शास्त्रीनगर, पाटलिपुत्र रोड नंबर-3, गांधी मैदान स्थित चिल्ड्रेंस पार्क समेत जलजमाव वाले क्षेत्रों में कुल सात पंप से जल निकासी की जा रही है. इसके अलावा शास्त्रीनगर स्थित जजेज आवास के पास, महेश नगर और इंद्रपुरी रोड संख्या-5 में कच्चा नाला तैयार कर जलनिकासी का इंतजाम किया जा रहा है.

पटना सिटी और अजीमाबाद अंचल

अजीमाबाद अंचल की टीम की ओर से नालंदा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल परिसर से कूड़ा उठाव का कार्य किया जा रहा है. म्यूनसिपल वेस्ट के साथ बायोमेडिकल वेस्ट मिलाने और परिसर में कचरा इकट्ठा करने पर एनएमसीएच पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. वहीं कूड़ा उठाव के कार्य पर अभी तक 81,665 हजार रुपये का खर्च आया है जिसका वहन भी इस प्रतिष्ठान को ही वहन करना होगा. बता दें कि अस्पताल परिसर में गहरे गड्ढे में कूड़ा डाला जा रहा था. वर्षा के बाद परिसर में इस वजह से जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई थी.

पटना सिटी और अजीमाबाद अंचल में तीन जेटिंग सह सक्शन मशीन से जलनिकासी की जा रही है. वहीं दो ऑटो माउंटेड फॉगिंग मशीन और 18 पोर्टेबल फॉगिंग मशीनों से रोस्टर के आधार पर सभी वार्डों में फॉगिंग का कार्य किया जा रहा है. दोनों अंचलों के प्रत्येक वार्ड में पांच-पांच सफाई मजदूरों की भी तैनाती की गई है. साथ ही अगमकुआं (वार्ड-56) और सिटी स्कूल (वार्ड-66) में पोकलैंड मशीन के जरिये कच्चा नाला तैयार किया गया है.

मुख्यालय स्तर पर निगम के कार्यों की लगातार निगरानी की जा रही है.  




Find Us on Facebook

Trending News