पटना पुलिस को बड़ी सफलता, राजधानी में लूट की घटना को अंजाम देने वाले 3 कुख्यात को किया गिरफ्तार

पटना पुलिस को बड़ी सफलता, राजधानी में लूट की घटना को अंजाम देने वाले 3 कुख्यात को किया गिरफ्तार

PATNA : रामकृष्णा नगर व कंकड़बाग डकैती मामलों का खुलासा शनिवार को कर दिया गया। इस कांड में पुलिस ने तीन अपराधियों को पकड़ा है। इनमें एक कुख्यात अपराधी अजीत सहनी उर्फ अजीत कुमार लल्लू को कंकड़बाग की आरएमएस कॉलोनी से पकड़ा गया।

इस पर कंकड़बाग में आधा दर्जन से अधिक अलग-अलग लूटकांडों में पूर्व से ही व इसके अलावा कोतवाली व लहेड़ी थाना, नालंदा में भी केस दर्ज हैं। इसके साथ ही रंजीत पासवान को एक देसी कट्टा और जिंदा कारतूस के साथ पकड़ा गया। इसके पास से लूट की मोटरसाइकिल वरामद की गई। दोनों को गुरुवार की रात पकड़ा गया। डकैती की घटना को अंजाम देने वाले मुख्य सरगना सहित कई आरोपित अब तक फरार हैं। .

दोनों ने पुलिस की पूछताछ में लूट की सभी घटनाओं में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। पूछताछ के क्रम में गौतम कुमार उर्फ गौतम सोनार को तेलपा से पकड़ा गया। उसके जगदम्बा ज्वेलर्स के नाम की दुकान से लूट के सभी जेवरात बरामद किये गए। उस पर भी बेऊर थाना और पाटलिपुत्र में केस दर्ज हैं। पकड़े गये रंजीत पासवान, अस्थावां और गौताम सोनार, नूरसराय (दोनों नालंदा) के रहने वाले हैं।

एसपी ने बताया कि डकैती कांड में शामिल इस गिरोह ने जेल में ही एक टीम तैयारी कर ली है। इस गिरोह का मास्टर माइंड फरवरी में रिहा हुआ था। इसी के प्लानिंग के तहत डकैती की घटना को अंजाम दिया गया था। वहीं, पकड़ा गया आरोपित अजीत उर्फ लल्लू भी अक्टूबर 2018 में जेल से छूटा था। 

उन्होंने बताया कि इस डकैती में शामिल कई अपराधी पटना में किराये के मकान में रहते हैं। इनमें कुछ अपराधी रामकृष्णा नगर, कुछ जक्कनपुर और कई लोग कंकड़बाग में रहते हैं। 

सिटी एसपी राजेन्द्र भील ने बताया कि पकड़े गये आरोपित लूट की घटना को अंजाम देने के बाद कार से फरार हो जाते थे। गलियों में लूटपाट के लिए बाइक का इस्तेमाल करते थे। घटना को अंजाम देने के बाद चार चक्का वाहन से नालंदा फरार हो जाते थे। इस कांड में शामिल ज्यादातर अपराधी नालंदा के हैं। 

बताते चलें कि राजधानी पटना के तीन अलग-अलग थाना क्षेत्रों में लगातार डकैती की घटना को अंजाम दिया गया था। कंकड़बाग के इंदिरानगर रोड नंबर तीन में रवीन्द्र रजक के घर में घुसकर 27 फरवरी को डकैती की गई थी। वहीं 10 मार्च को रामकृष्णा नगर के चमनचक, कंकड़बाग की पीसी कॉलोनी और 11 मार्च को सोरंगपुर में डकैती की घटना को अंजाम दिया गया था। जिसके बाद से पुलिस की नींद उड़ी हुई थी। 

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News