वाह रे पटना पुलिस ! डकैतों को पकड़ने में पसीना बहाने की बजाए डकैती वाले आवेदन को हीं चोरी में बदलवा दिया, ताकि.........

PATNA: पटना पुलिस अपराधियों को पकड़ने की बजाए डकैती वाले आवेदन को चोरी में बदलने को लेकर काफी मिहनत करती है। आज कुछ वैसी हीं तस्वीर देखने को मिली जहां पटना पुलिस इस बात को लेकर खासा परेशान हो गई जब उसके सामने डकैती का आवेदन आया। आवेदन सामने आते हीं पुलिस डकैतों का पता लगाने की बजाए इस फेरे में लग गई कि केस को कैसे चोरी में कैसे बदला जाए।

मामला पत्रकारनगर थाने का है, जहां पीड़ित राजेश्वर प्रसाद सिन्हा ने 58 लाख की डकैती का आवेदन राजधानी के पत्रकार नगर थाने को दिया।लेकिन वहां की पुलिस आवेदन के आधार पर डकैतों को पकड़ने की बजाए डकैती वाले आवेदन को चोरी में बदलने को लेकरकाफी प्रयास करती रही। पत्रकारनगर थाने की जांबाज पुलिस ने पीड़ित पर दबाव बनाकर उक्त आवेदन को चोरी में बदलवा हीं दिया।

पीडित का कहना था कि वे भले हीं अपने फ्लैट से बाहर थे लेकिन परिवार के बाकी सदस्य मकान में मौजूद थे। बदमाश सभी को घर में बंद कर पूरी संपत्ति लूट ली।लेकिन जब हम डकैती का केस करने गए तो पुलिस ने लेने से इंकार कर दिया और दूसरा आवेदन चोरी का लिखवाया गया।तब जाकर पुलिस ने चोरी का केस किया।

लेकिन मीडिया में डकैती की खबर सामने आने के बाद भागे-भागे एएसपी भी पत्रकारनगर थानाक्षेत्र के पीसी कॉलनी स्थित पीड़ित के घर पहुंचे और घटनास्थल का निरीक्षण किया।एएसपी ने पीड़ित परिवार से पूरे मामले की जानकारी ली।मीडिया से बातचीत में एएसपी ने कहा कि मामला बहुत बड़ा है।जब उनसे पूछा गया कि जब पीड़ित डकैती की बात कह रहा तो फिर पत्रकारनगर थाना ने डकैती के आवेदन को चोरी में क्यों बदलवा दिया? इस पर एएसपी ने कहा कि यह टेक्निकल इश्यू है ।हमलोग इसको देख रहे हैं।चूंकि यह मामला बहुत बड़ा है इसलिए पुलिस पूरी सक्रियता से मामले को देखेगी।

Find Us on Facebook

Trending News