राजकीय अतिथि बने पवन वर्मा! ..तो CM नीतीश ने PK को फिर से साथ लाने का दिया है जिम्मा ? कभी 'नीतीश' ने कर दिया था बाहर

राजकीय अतिथि बने पवन वर्मा! ..तो CM नीतीश ने PK को फिर से साथ लाने का दिया है जिम्मा ? कभी 'नीतीश' ने कर दिया था बाहर

PATNA: नीतीश कुमार ने जेडीयू के वरिष्ठ नेता रहे पवन वर्मा को बाहर कर दिया था। लेकिन समय ने करवट लिया तो एक बार फिर से पवन वर्मा काम के नेता बन गये हैं। लिहाजा पटना पहुंचने के बाद सरकार ने उन्हें राजकीय अतिथिशाल में ठहरने की इजाजत दे दी। एक तरह से वे राजकीय अतिथि बन गये। बताया जाता है कि सीएम नीतीश रणनीतिकार प्रशांत किशोर के पंच से परेशान हैं। पीके को साधने के लिए ही पवन वर्मा सेतू का काम कर रहे हैं. पटना पहुंचने के बाद पवन वर्मा ने नीतीश कुमार और प्रशांत किशोर से मुलाकात भी की है। 

पटना में पत्रकारों से बातचीत में जेडीयू के पूर्व राज्यसभा सांसद पवन वर्मा ने कहा कि प्रशांत किशोर से हमारी मुलाकात हुई है। हमारी मुलाकात मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी हुई है। मेरे मन में नीतीश कुमार के लिए स्नेह और सम्मान है। हमने नीतीश जी के लिए फॉरेन सर्विस की नौकरी छोड़ दी थी। उन्होंने कहा कि एनआरसी के मुद्दे पर हमारा मत पार्टी से भिन्न था,लिहाजा जेडीयू नेतृत्व ने हमें निष्कासित कर दिया था। हम तकनीकि रूप से जेडीयू में नहीं हैं,इसके बाद भी हमारी मुलाकात नीतीश कुमार से होते रही है। उन्होंने कहा कि अब बिहार में  महागठबंधन की सरकार बनी है. ऐसे में हमने सोचा कि मुख्यमंत्री बने हैं तो उन्हें बधाई दें. पवन वर्मा ने कहा कि प्रशांत किशोर से भी हमारी मुलाकात हुई है. लेकिन नीतीश कुमार से मिलने संबंधी कोई बातचीत नहीं हुई है। पीके मेरे करीबी हैं, उनसे मुलाकात और बातचीत होते रहती है.  

नीतीश कुमार द्वारा विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश विपक्षी पार्टियों को एकजुट कर रहे हैं, वह सराहनीय कार्य है. मेरा सहयोग उसमें क्या होगा, इस पर नीतीश जी को भी निर्णय लेना और मुझे भी .वे अपने मुहिम में सफल हो इसकी मैं इसकी शुभकामना देने आया हूं. हर विपक्षी नेता के मन में नीतीश कुमार के लिए सम्मान है.उन्होंने आगे कहा कि मैं फिर से जदयू में वापस आऊंगा, इस पर फिलहाल कोई बातचीत नहीं हुई है .बिहार में फिल्डिंग कर रहे प्रशांत किशोर क्या फिर से नीतीश कुमार के साथ आयेंगे? इस सवाल पर पवन वर्मा ने कहा कि यह फैसला उन्हें लेना है. जहां तक मेरी घर वापसी की बात है, उस पर अभी बातचीत नहीं हुई है. 



Find Us on Facebook

Trending News