बाढ़ में रास्ता में बंद होने से नाव का सहारा लेकर पहुंचे लोग, दूर दराज इलाके के वोटरों को बूथ तक लाने के लिए प्रशासन ने नहीं की कोई व्यवस्था

 बाढ़ में रास्ता में बंद होने से नाव का सहारा लेकर पहुंचे लोग, दूर दराज इलाके के वोटरों को बूथ तक लाने के लिए प्रशासन ने नहीं की कोई व्यवस्था

NAWADA : बिहार में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण के लिए आज मतदान किया जा रहा है। बूथों पर लोगों की भीड़ नजर आ रही है। लेकिन कुछ जगह ऐसी भी है, जहां वोटरों को बूथ तक पहुंच पाना बेहद कठिन है। ऐसे वोटरों के लिए प्रशासन की तरफ से यह दावा किया गया था कि वह उनके आने जाने के लिए व्यवस्था करेगा, लेकिन यह दावा कागजी साबित हुआ। हालांकि इसके बाद भी मतदाता अपने वोट के अधिकार के प्रयोग के लिए पहुंच रहे हैं।

मामला नवादा जिला के पिपरा इलाके से जुड़ा है।जहां आज तीसरे चरण में पंचायत चुनाव में वोटिंग की जा रही है। यहां कुछ इलाके ऐसे हैं, जो पूरी तरह से बाढ़ के पानी में डूब चुके हैं, इन गांवों तक पहुंचने के रास्ते बंद हो चुके हैं। जिसके कारण यहां मतदान केंद्र दूरी पर बनाए गए थे। प्रशासन की तरफ से कहा गया था कि बाढ़ से घिरे लोगों को बूथ तक लाने के व्यवस्था की जाएगी। लेकिन वोटिंग के दिन प्रशासन यह व्यवस्था करना भूल गई।

नाव के सहारे अपने खर्च पर जा रहे बूथ

पिपरा इलाके के लोगों का कहना है कि प्रशासन की तरफ से कोई इंतजाम नहीं किया गया है। अपने खर्च पर नाव पर बैठकर आना पड़ रहा है। यहां से भी दो घंटे तक पैदल चलकर बूथ तक जाना है। घने जंगल और पहाड़ियों के बीच होकर बूथ तक जाने का दर्द इन वोटरों को देखकर समझा जा सकता है।


Find Us on Facebook

Trending News