अस्पताल बनाए जाने के प्रशासन के फैसले के विरोध में सड़क पर उतरे लोग, जानें किस बात को लेकर है नाराजगी

अस्पताल बनाए जाने के प्रशासन के फैसले के विरोध में सड़क पर उतरे लोग, जानें किस बात को लेकर है नाराजगी

NALANDA : आम तौर पर लोग अस्पताल बनाने के लिए सरकार से मांग करते हैं. प्रदर्शन करते हैं। लेकिन नालंदा जिले में मामला थोड़ा उल्टा है। यहां लोगों की नाराजगी प्रशासन  के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाए जाने का विरोध किया जा रहा है। नाराजगी ऐसी कि इसके लिए लोग पर उतर कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। 

मामला जिले के परबलपुर प्रखंड से जुड़ा है, जहां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाया जाना है। लेकिन इसके लिए प्रशासन ने जिस जगह का चयन किया है, वह मुख्यालय से सात किलोमीटर दूर है। लोगों का कहना है कि वहां आने जाने के लिए भी कोई साधन नहीं है। ऐसे में लोगों ने जिला प्रशासन से जगह बदलने की मांग की थी। प्रशासन ने उन्हें भरोसा दिया था कि एक सप्ताह में इस पर फैसला कर लिया जाएगा। लेकिन एक सप्ताह गुजरने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिसके बाद आज बिहारशरीफ एकंगरसराय मार्ग को परबलपुर के समीप जाम कर दिया । जाम कर रहे लोगों ने हांथों में बैनर पोस्टर लेकर स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ जमकारी नारेबाजी किए ।

बिचौलियों के दूबाव में प्रशासन

विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि प्रखंड मुख्यालय में अस्पताल के लिए काफी जगह खाली है, जहां निर्माण का काम हो सकता है. लेकिन प्रशासन के अधिकार और बिचौलियों की मिलीभगत के कारण अस्पताल को मुख्यालय से दूर बनाया जा रहा है। लोगों ने बताया कि अब जब तक इसका निर्माण मुख्यालय के आस पास नहीं होगा तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

एसडीओ ने दिया मांगों पर विचार का भरोसा

सड़क जाम की सूचना मिलने पर पहुंचे हिलसा एसडीओ सुधीर कुमार ने आक्रोशित लोगों को समझा बुझाकर जाम हटाया। उन्होंने बताया कि सोनचरी गांव के पास सरकारी जमीन उपलब्ध करायी गयी थी। इस कारण उसका निर्माण वहाँ किया जाने का प्रस्ताव दिया गया था। अगर लोगों को आपत्ति है तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी ।


Find Us on Facebook

Trending News