वैशाली में साधु के वेश में घूम रहे संदिग्धों को लोगों ने पकड़ा, जमकर की पिटाई, पुलिस के किया हवाले

वैशाली में साधु के वेश में घूम रहे संदिग्धों को लोगों ने पकड़ा, जमकर की पिटाई, पुलिस के किया हवाले

VAISHALI : हाजीपुर में श्रावण महीने में बसहा बैल के साथ साधु के भेष में घूमने वाले आधा दर्जन संदिग्ध लोगों के पकड़े जाने के मामले का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। सभी के पकड़े जाने के बाद बजरंग दल के जिलाध्यक्ष आर्यन सिंह द्वारा सभी की निर्मम तरीके से पिटाई की जा रही है। यह वाक्या 24 जुलाई का है। बताया जा रहा है की पुलिस हिरासत में लिए जाने से पहले नगर थाना क्षेत्र के कदम घाट पर सभी की पिटाई की गई। उसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची और सभी को अपने हिरासत में लिया। पुलिस ने सभी का मेडिकल जांच कराने के बाद नाम पते का सत्यापन कराया और बाद में बॉन्ड बनवाकर सभी को छोड़ दिया है। 


हालाँकि बजरंग दल के जिलाध्यक्ष ने आरोप लगाया था की सभी स्लिपर सेल है जो साधु का वेश धारण कर साजिश के तहत हिंदू धर्म की भावना से खिलवाड़ करते हुए किसी आतंकी घटना की कोशिश में थे। अन्यथा हिन्दू का भेष बनाने की क्या आवश्यकता थी। बहरहाल पिटाई का वीडियो वायरल हो गया है। जिसमें साफ तौर से दिखाई दे रहा है की हिंदू संगठन के आर्यन सिंह कथित साधुओ की पिटाई कर रहे हैं। हालाँकि NEWS4NATION इस वायरल विडियो की पुष्टि नहीं करता है। इस विषय में आर्यन सिंह की दलील भी अजीबोगरीब है। उनका कहना है कि पटना में पीएफआई के तीन आतंकी पकड़े गए थे। जिसके बाद यहां भी उन लोगों को शक हुआ. पकड़ में आय लोगों ने भेस बदला हुआ था. जो आतंकी हो सकते हैं। 

आर्यन सिंह की दलील है कि यह सभी फर्जी है। इनके पास ना तो कोई कागज है ना ही कोई सुबूत। इसी वजह से इनके साथ गंभीरता से पूछताछ की गई है। साथ ही आर्यन ने मांग की है कि इसके साथ गहन जांच होनी चाहिए। जिससे पता चलेगा इन सभी का किसी और आतंकी संगठन से तालुका है कि नहीं ? आर्यन सिंह का स्पष्ट आरोप है कि हिंदू का भेष बनाकर यह सभी हिंदू को बस्तियों में जाते हैं। वहां से डाटा इकट्ठा करते हैं और फिर मस्जिदों में मिलते हैं। इतना ही नहीं पूरा यकीन भी है कि सभी आतंकी संगठन से जुड़े हुए हैं। आर्यन सिंह के दावे अपनी जगह है।

हालांकि पुलिस को इस बात के कोई भी पुख्ता सुबूत नहीं मिले हैं। यही कारण है कि पुलिस ने भी सभी को बेल बांड पर छोड़ दिया है। बावजूद कहीं न कहीं कहा जा सकता है कि कुछ लोग मामले को तुम देने में लगे हुए हैं। इसी वजह से सोशल मीडिया पर इस तरीके के वीडियो की वायरल किया गया है। देखने वाली बात होगी पुलिस इस मामले में कब संज्ञान लेकर कार्रवाई करती है। 

वैशाली से राजकुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News