घटिया सामग्री इस्तेमाल करने पर लोगों ने सड़क निर्माण पर लगा दी रोक, डीएम भी गंभीर, गुणवत्ता की जांच के लिए बना दी टीम

घटिया सामग्री इस्तेमाल करने पर लोगों ने सड़क निर्माण पर लगा दी रोक, डीएम भी गंभीर, गुणवत्ता की जांच के लिए बना दी टीम

SUPOUL : त्रिवेणीगंज मुख्य बाजार स्थित जनता रोड से वंशी चौक होते हुए मेला ग्राउंड तक 1.680 किलोमीटर पक्की सड़क निर्माण कार्य में घटिया सामग्री के इस्तेमाल को लेकर जिलाधिकारी महेंद्र कुमार ने चार सदस्यीय टीम का गठन किया है। जिस पर टीम ने गुरुवार को सड़क की गुणवत्ता की जांच शुरू कर दी। बता दें सड़क निर्माण को लेकर लोगों के द्वारा विरोध जताते हुए कार्य को बंद करवा दिया था। जिसके  बाद अनुमंडल पदाधिकारी ने भी इस सड़क में बरती जा रही अनियमितता की जानकारी जिलाधिकारी को दी थी। 

ग्रामीणों ने जताया था विरोध

मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ अनुरक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत त्रिवेणीगंज बाजार के एनएच 327 ई जनता रोड से वंशी चौक होते हुए मेला ग्राउंड तक 68 लाख 18 हजार 345 लाख रुपये की लागत से 1.680 किमी सड़क का निर्माण संवेदक अरविंद कुमार सिंह बेली रोड पटना के द्वारा कार्य कराया जा रहा था। ग्रामीणों का आरोप है कि देर रात जब सभी ग्रामीण सो रहे थे उस दरम्यान इस सड़क का निर्माण कर खानापूर्ति की गई थी और सड़क बनते ही उखड़ने लगी। ग्रामीणों ने निर्माण कार्य को रोक दिया था। ग्रामीणों द्वारा किए जा रहे हंगामे की जानकारी जब एसडीएम एस जेड हसन को हुई तो उन्होंने बीपीआरओ रूपेश कुमार राय को स्थल पर भेजा था और खुद भी जाकर जिलाधिकारी को स्थिति से अवगत कराया। जांच टीम में शामिल अनुमंडल पदाधिकारी, त्रिवेणीगंज कार्यपालक अभियंता, पथ निर्माण विभाग, पथ प्रमंडल, सुपौल को कहा गया है कि संबंधित सड़क की स्थलीय जांच कर एक सप्ताह के अंदर रिपोर्ट सौंपे जाने की बात कही थी।

विभाग के इंजिनियर को जानकारी नहीं, साधी चुप्पी

इन सब बातों से अंजान बने ग्रामीण कार्य विभाग कार्य प्रखंड त्रिवेणीगंज के इंजिनियर गौतम गिरी कैमरे पर कुछ भी बताने से इंकार कर दिए।उनकी मौन स्वीकृति से साफ स्पष्ट होता है कि ऐसे ही विभागीय इंजीनियरों के बदौलत आज के समय में सड़क निर्माण कंपनी और ठेकेदार दोनों रातोंरात करोड़पति बन रहे हैं और खामियाजा आमलोगों को भुगतना पड़ता है।

जांच टीम ने इकट्ठा किए सैंपल

 बनाए गए रोड की बुधवार को एसडीएम के नेतृत्व में गठित टीम के द्वारा स्थल की जांच की साथ ही बनाईं गई रोड का जगह पर खोद कर मटेरियल का सैम्पल लिया गया और मटेरियल का मापी भी किया जांच टीम शामिल एसडीएम एस जेड हसन ने बताया कि रातों रात घटिया सामग्री सड़क निर्माण किया जा रहा था।  ग्रामीणों ने उसे रोक दी, उसी को लेकर जिला अधिकारी के आदेश अनुसार जांच  टीम गठित कर बनाए गये सड़क की मेटियरल का सैम्पल लिया जा रहा है। सैम्पल लेकर लैब में गुणवत्ता की जांच होगी, जांच रिपोर्ट आने के बाद संवेदक पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

मौके पर जांच टीम शामिल कार्यापालक अभियंता योगेन्द्र  कुमार ने बताया कि संवेदक अरविंद कुमार सिंह बेली रोड पटना के द्वारा रोड बनाईं जा चुकी है. जो कि स्थल पर गुणवत्ताविहीन कार्य पाया गया है. जबकि घटिया सामग्रियां से सड़क निर्माण हुआ है, जगह जगह पर रोड़ को खोद कर सैम्पल लिया गया है, मेटियरल की जांच लैब के द्वारा कराई जाएगी। रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कार्यवाई की जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News