गया में इस साल पिंडदान की अनुमति, लेकिन मेला का आयोजन नहीं, यह समझ से परे : कांग्रेस

गया में इस साल पिंडदान की अनुमति, लेकिन मेला का आयोजन नहीं, यह समझ से परे : कांग्रेस

GAYA : विश्व प्रसिद्ध पितृपक्ष मेला के आयोजन नहीं होने की घोषणा राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा अंतिम समय में किया गया. लेकिन पिंडदान, कर्मकांड करने पर कोई रोक नहीं रहेगा के आदेश समझ से परे प्रतीत होता है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह क्षेत्रीय प्रवक्ता बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी प्रो विजय कुमार मिठू, पूर्व विधायक मो खान अली, जिला उपाध्यक्ष युगल किशोर सिंह, विद्या शर्मा, दामोदर गोस्वामी,अमरजीत कुमार, विनोद बनारसी, राजेश्वर पासवान, सुरेन्द्र मांझी, अरुण कुमार पासवान आदि ने कहा राज्य सरकार एवं स्थानीय प्रशासन पितृपक्ष मेला के नाम पर छह माह पहले से तैयारी शुरू कर देती थी। 

जिसमें विष्णु पद मंदिर सहित सभी 54 वेदियों की साफ सफाई, रंगाई, पोताई का काम किया जाता था। विधिवत उद्घाटन समारोह होता था। देश विदेश से पिंडदान करने आने वाले की सुविधा के लिए बेहतर इंतजाम किए जाते थे। जिसे आज भी करना जरूरी था। लेकिन पिंडदान की अनुमति तथा कोरोना वायरस गाइडलाइन जारी कर सरकार को अपना पल्ला झाड़ने से काम नहीं चलेगा, बल्कि पहले की भांति सभी प्रकार की सुविधाएं तीर्थयात्रियों को मुहैया कराना होगा। 

नेताओं ने कहा कि जब पिंडदान की अनुमति दी गई है, तो पूर्व की भांति इंतजाम एवं कोरोना महामारी के मद्देनजर सभी प्रकार के सावधानी बरतने तथा इसके गाइडलाइन के अनुकूल इंतजाम करना निहायत जरूरी है। नेताओं ने कहा कि सरकार एवं स्थानीय प्रशासन मेला के आयोजन नहीं होने के नाम पर इंतजाम के मामले में अपना पल्ला नहीं झाड़ और ज्यादा इंतजाम करें।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News