पीएम ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट का किया शिलान्यास, 25,000 स्कॉवयर वर्गमीटर में बन रहा है काशी विश्वनाथ कॉरिडोर

पीएम ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट का किया शिलान्यास, 25,000 स्कॉवयर वर्गमीटर में बन रहा है काशी विश्वनाथ कॉरिडोर

NEWS4NATION DESK : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बन रहे काशी विश्‍वनाथ कॉरिडोर का शिलान्यास किया। यह प्रोजेक्ट पीएम का ड्रीम प्रोजेक्ट कहा जाता है। काशी विश्वनाथ मंदिर, मणिकर्णिका घाट और ललिता घाट के बीच बन रहा यह कॉरिडोर 25,000 स्क्वेयर वर्ग मीटर है। इसके तहत फूड स्ट्रीट, रिवर फ्रंट समेत बनारस की तंग सड़कों के चौड़ीकरण का काम भी चल रहा है।

इस कॉरिडोर के बन जाने के बाद गंगा किनारे होकर 50 फीट सड़क से बाबा विश्वनाथ मंदिर पहुंचा जा सकेंगा। 

काशी विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र का विकास वर्ष 1780, 1853 के बाद 2019 में हो रहा है। पहली बार 1780 में इस इलाके का जीर्णोद्धार महारानी अहिल्या बाई होल्कर ने किया था। उनके बाद 1853 में महाराजा रणजीत सिंह ने मंदिर के शिखर सहित अन्य स्थानों पर सोना लगवाया था। अब 2019 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस परिक्षेत्र को विकसित करवा रहे हैं।

कॉरिडोर की जड़ में में आने वाले मंदिरों, सड़कों समेत कई इमारतों को संवारा जा रहा है। इसके लावा दो पुराने पुस्तकालयों को भी इस प्रोजेक्ट के तहत संवारने का काम किया जा रहा है। इन्हें डिजिटल लाइब्रेरी बनाया जा रहा है। जिस पर कुल 24 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

हालांकि इस कॉरिडोर के निर्माण को लेकर विवाद भी खड़ा हो गया है। लोगों का कहना है कि इस प्रोजेक्ट से काशी की ऐतिहासिक पहचान ही खतरे में पड़ गई है। सरकार काशी को क्योटो की तरह खूबसूरत बनाने की कोशिश में है, लेकिन वाराणसी की जनता के लिए सरकार का ये प्लान मुश्किल भरा है। क्योंकि यहां बेतहाशा इमारतें तोड़ी जा रही हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News