अर्थव्यवस्था की चिंतनीय स्थिति पर सुब्रमण्यम स्वामी के निशाने पर आए पीएम मोदी, जिन्हें लगता है कि मोदी वैश्विक नेता, यह उनके लिए है

अर्थव्यवस्था की चिंतनीय स्थिति पर सुब्रमण्यम स्वामी के निशाने पर आए पीएम मोदी, जिन्हें लगता है कि मोदी वैश्विक नेता, यह उनके लिए है

DESK. आर्थिक मोर्चे पर कई प्रकार की चुनौतियों का सामना कर रहे भारत में इन दिनों महंगाई तेजी से बढ़ी है. वहीं मुद्रास्फीति का हाल भी बेहाल है. इसे लेकर विपक्षी दलों द्वारा लगातार केद्र सरकार की नीतियों की आलोचना की जाती रही है. लेकिन, अब पीएम मोदी के उनके ही दल के लोगों ने निशाने पर लिया है. 

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने अर्थव्यवस्था को लेकर एक विदेशी जर्नल में छपी खबर को संज्ञान में लेते हुए ट्वीट किया है. कहा कि भारत में जिन्हें लगता है कि मोदी वैश्विक नेता हैं, यह उनके लिए है. खबर की हेडलाईन भारत के आर्थिक विकास पर मुद्रास्फीति का भार है. विदेशी जर्नल के अनुसार पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में चौथी तिमाही में भारत की अर्थव्यवस्था में 4.1% की वृद्धि हुई, क्योंकि बढ़ती मुद्रास्फीति ने महामारी के दौरान अपनी मंदी से अधिक मजबूत वसूली को रोक दिया.

खबर में कहा गया है कि मंगलवार को, भारत ने पिछले वर्ष और साथ ही 31 मार्च को समाप्त तिमाही के आंकड़े की तुलना में पूरे वित्तीय वर्ष के लिए 8.7% सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर्ज की. भारत के केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए अप्रैल में अपने पूर्वानुमान को 7.8% से घटाकर 7.2 कर दिया.

हालांकि सुब्रमण्यम स्वामी ने इसे लेकर कुछ खास नहीं कहा है. लेकिन उन्होंने आंकड़ों के साथ बताया है कि किस तरह से देश की अर्थव्यवस्था पतली हुई है. इसे लेकर कैसे विदेशों में भारत की बदहाल होती स्थिति को पेश किया जा रहा है. और इसे लेकर ही उन्होंने सीधे तौर पर पीएम मोदी को निशाने पर लेते हुए उनके वैश्विक नेता की छवि पर सवाल किया है. 


Find Us on Facebook

Trending News