पीएम मोदी ने की सीएम नीतीश से बात, पटना में बाढ़ की स्थिति के बारे ली जानकारी

पीएम मोदी ने की सीएम नीतीश से बात, पटना में बाढ़ की स्थिति के बारे ली जानकारी

NEWS4NATION DESK : बिहार बाढ़ से बेहाल है। पूरे बिहार में 16 लाख लोग बाढ़ के पानी से घिरे हुए हैं। अब तक 40 लोगों की जान चली गई है। सबसे बुरा हाल बिहार की राजधानी पटना का है। जहां कई इलाके पूरी तरह से जलमग्न है। आलम यह है कि कई मुहल्लों में 6 से 7 फीट पानी हैं। 

राजधानी का यह स्थिति बाढ़ से नहीं बारिश के वजह से हुई है। जलजमाव की स्थिति के संबंध में प्रधानमंत्री मोदी ने सीएम नीतीश से बात कर जानकारी ली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उन्होंने बिहार में आई बाढ़ के संबंध में बात किया प्रभावित लोगों की मदद के लिए स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर सभी एजेंसियां काम कर रही हैं। केंद्र सरकार सभी संभावित सहयोग मुहैया कराने के लिए तैयार है।

गौरतलब है कि पटना के कई मुहल्ले के लोग जल कैदी बन गए हैं। न बिजली है न पीने का शुद्ध पानी और ना कुछ खाने के लिए सामग्री। एक अजीब हालत में लोगो की जिंदगी अपने ही घर की चहारदीवारी में कैद हो गई है। संभवत है यह 1975 के बाद यह पहला मौका है जब राजधानी के लोगों को अपने ही घरों में पानी ने कैद कर लिया है।

मुख्यमंत्री बार-बार इसे प्राकृतिक आपदा कह कर पल्ला झाड़ने में लगे हुए हैं तो दूसरी तरफ जल कर्फ्यू की वजह से अपने ही घरों की चहारदीवारी में कैद लोगों के धैर्य की सीमा टूट रही है। हद तो तब हो गयी जब बाढ़ की राजनीति कर नेता बने और बिहार के डिप्टी सीएम की कुर्सी तक पहुंचे सुशील मोदी कंकड़बाग के राजेंद्र नगर मोहल्ले में अपने ही घर में जलजमाव  की वजह 3 दिनों तक जल कैदी बने रहे।

सोमवार को दोपहर में एनडीआरएफ रेस्क्यू टीम ने पटना के डीएम के नेतृत्व में उन्हें अपने घर से बाहर निकाला।

Find Us on Facebook

Trending News