सुशासन और जनसेवा को राष्ट्रधर्म व राष्ट्रनीति बनाने वाले पीएम मोदी विश्व राजनीति के धवल कीर्ति स्तम्भ हैं : सचिदानन्द राय

सुशासन और जनसेवा को राष्ट्रधर्म व राष्ट्रनीति बनाने वाले पीएम मोदी विश्व राजनीति के धवल कीर्ति स्तम्भ हैं : सचिदानन्द राय

NEWS4NATION DESK : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज 69 साल को हो गये। मोदी के जन्मदिन पर उन्हें देशभर से बधाइयां मिल रहीं हैं। देश के आम नागरिक और पक्ष-विपक्ष के नेता उन्हें बधाइयां दे रहे है। बिहार प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता व एमएलसी सच्चिदानंद राय ने भी उन्हें बधाइयां और शुभकामना दी है। 

सच्चिदानंद राय ने अपने शुभकामना संदेश में लिखा है, जब देश बिल्कुल विपरीत परिस्थितियों से गुजर रहा था, देश की सरकार भ्र्ष्टाचार के अथाह समुद्र में डूब चुकी थी, भारतीय राजनीति का क्षितिज कलंक की कालिमा व अंधकारमय हो चुका था, सुशासन औंधे मुंह पड़ा कराह रहा था और उसपर यूपीए  जैसी अदूरदर्शी और लुटेरी सरकार के पहरेदार अट्टहास कर रहे थे। उसी दौरान देश की जनता ने एक साधारण पृष्ठभूमि से आने वाले राष्ट्रधर्म को सर्वोपरि मानकर राजनीत करने वाले गुजरात के काबिल मुख्यमंत्री पर भरोसा जताया और फिर देश मे एक नए सियासत के सूर्य का उदय हुआ।  जिसके प्रकाश से आज हिंदुस्तान ही बल्कि सम्पूर्ण विश्व आलोकित हो रहा है। उस महानायक का नाम है नरेंद्र दामोदर दास मोदी।

यह सौभाग्य है कि देश को एक अनूठी कार्यशैली और सोच का नेता मिला है, जिसने सुशासन और सेवा को राष्ट्रधर्म व राष्ट्रनीति के तौर क्रियान्वयन किया।  जिसका सीधा असर देश के सामाजिक,सांस्कृतिक व आर्थिक परिवेश पर देखने को मिल रहा है। 

अनिर्णय के दौर से गुजर रहे देश को एक ऐसा नेता मिला जिसके निर्णयों ने पूरे विश्व को मुरीद बनाकर रख दिया। देश को घुन की तरह खा रहे भ्रष्टाचारी अधिकारी और नेता जेल की सलाखों के पीछे जाने को विवश हैं। 

70 साल से चली आ रही कश्मीर समस्या को सात सेकंड में सर्वनाश कर रचनात्मक सियासत की नींव डालने वाला माई का लाल अभी भारत ही नहीं बल्कि विश्व के कपाल पर बहुत कुछ लिखनेवाला है। 

मोदी जी के रचनात्मक राजनीति का परिणाम है कि पिछले लोकसभा चुनाव में देश की जनता ने उन्हें सर आंखों पर बिठाया है। मां भारती की सेवा में पूरा जीवन खपा देने वाले प्रधानमंत्री मोदी के अद्धभुत व्यक्तित्व का स्वरूप सालों साल तक कायम रहे, हम जैसे कार्यकर्ताओं की यही कामना है।  

69वें जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं।

सच्चिदानंद राय

Find Us on Facebook

Trending News