अयोध्या पर तेज सुनवाई के बीच पीएम की नसीहत, हर कश्मीरी को गले लगाना है

अयोध्या पर तेज सुनवाई के बीच पीएम की नसीहत, हर कश्मीरी को गले लगाना है

NEWS4NATION DESK : अयोध्या मसले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बीच बयानबाजी करने वाले नेताओं को पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नसीहत दी। मोदी ने कहा कि सर्वोच्च अदालत में सुनवाई चल रही है। ऐसे में सभी बयानवीरों को इस मुद्दे पर बोलने से बचना चाहिए।
 

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के प्रचार का आगाज करने नासिक पहुंचे पीएम ने कहा कि मैं राम मंदिर पर बयान बहादुरों और बड़बोलों को देखकर हैरान हूं। सभी को सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करना चाहिए। कोर्ट में केस चल रहा है। मैं इन लोगों से हाथ जोड़कर प्रार्थना करता हूं कि न्यायिक व्यवस्था में भरोसा रखें। 

मोदी ने किसी का नाम नहीं लिया, लेकिन उनके इस बयान को सीधे तौर पर बीजेपी की सहयोगी शिवसेना पर तंज माना जा रहा है, जो लगातार कानून के जरिये मंदिर निर्माण की मांग उठाती रही है। 

बता दें शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सोमवार को भी कहा था कि केंद्र को अयोध्या पर कानून लाने का साहसिक निर्णय करना चाहिए। माना जा रहा है कि अयोध्या विवाद में दिवाली के आसपास कोर्ट का फैसला आ सकता है।

वहीं पीएम मोदी ने कश्मीरियों को गले लगाने की भी अपील करते हुए कहा कि हमें घाटी में नया स्वर्ग बनाना है। आर्टिकल-370 हटाने के फैसले पर सरकार का पक्ष रखते हुए उन्होंने कहा कि यह निर्णय जम्मू-कश्मीर के लोगों के सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने का माध्यम बनेगा। कश्मीरियों की दशकों पुरानी समस्याओं के लिए पीएम ने कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में अशांति, अविश्वास और हिंसा भड़काने के लिए सीमापार से काफी कोशिशें की जा रही हैं। 

पाकिस्तान पर एनसीपी चीफ शरद पवार के बयान को लेकर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि जब उनके जैसा अनुभवी नेता वोटों के लिए गलत बयान देता है तो बुरा लगता है।

Find Us on Facebook

Trending News