पीएमसीएच के अधीक्षक ने हेल्थ मैनेजर को किया बर्खास्त, जीवित मरीज को मृत घोषित करने का मामला

पीएमसीएच के अधीक्षक ने हेल्थ मैनेजर को किया बर्खास्त, जीवित मरीज को मृत घोषित करने का मामला

PATNA : पीएमसीएच के सुपरिटेंडेंट डॉ. आई. एस. ठाकुर ने बड़ा एक्शन लिया है. कोरोना मरीज के मामले में लापरवाही बरतने वाली हेल्थ मैनेजर अंजली कुमारी को बर्खास्त कर दिया गया है. बताते चलें की आज बिहार के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में अजीबोगरीब मामला सामने आया. जीवित मरीज को मृत बताकर परिजनों को सौंप दिया गया. यही नहीं अस्पताल की ओर से मृतक का डेथ सर्टिफिकेट भी बना दिया गया. 

बताया गया की कोरोना की वजह से मरीज की मौत हुई है. मिली जानकारी के अनुसार ब्रेन हैमरेज से पीड़ित व्यक्ति को परिजनों ने 9 अप्रैल को पीएमसीएच में भर्ती कराया था. जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें कोरोना से मौत होने की जानकारी दी थी. जब परिजन मृतक को दाह संस्कार के लिए बांस घाट ले गए तो परिजनों ने उन्हें  पहचानने से इंकार कर दिया. इसके बाद परिजनों के बीच हड़कंप मच गया. परिजनों भागे भागे अस्पताल पहुंचे. जहाँ उनके परिजन जीवित मिले हैं. इस मामले को लेकर परिजनों ने मामले जांच की मांग की थी. इस मामले पर कार्रवाई करते हुए अस्पताल के अधीक्षक ने हेल्थ मैनजर को बर्खास्त कर दिया है. 

बताते चलें की अभी कुछ दिन पहले ही एक महिला का खुद ऑक्सीजन सिलिंडर के साथ बच्चे को अल्ट्रा साउंड कराने ले जाने का वीडियो सामने आया था. इस वीडियो के सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की काफी किरकिरी हुई थी. अस्पताल की स्थिति तब ऐसी है. जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसे विश्व का सबसे दूसरा अस्पताल बनाना चाहते हैं. इसके लिए अस्पताल के निर्माण पर 5000 करोड़ रूपये खर्च करने का प्रावधान किया गया है.  

पटना से अनिल कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News