मोहर्रम को लेकर पुलिस और प्रशासन ने किया फ्लैग मार्च, एसडीएम ने कहा - धार्मिक उन्माद फैलानेवालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

मोहर्रम को लेकर पुलिस और प्रशासन ने किया फ्लैग मार्च, एसडीएम ने कहा - धार्मिक उन्माद फैलानेवालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

SUPOUL : मोहर्रम के त्यौहार पर शांति व्यवस्था को लेकर गुरूवार को जिले त्रिवेणीगंज अनुमंडल पदाधिकारी एस जेड हसन व डीएसपी गनपती ठाकुर ने अपने दल बल के साथ फ्लैग मार्च  किया। एसडीएम व डीएसपी ने अनुमंडल क्षेत्र के त्रिवेणीगंज,जदिया, कोरियापट्टी, छातापुर, सहित अन्य चौक चौराहे के कई मार्गाें पर फ्लैग मार्च किया। साथ ही कोरोना महामारी के चलते मोहर्रम पर मुस्लिम धर्मगुरूओं से अपने-अपने घरों में ताजिऐ रखकर नमाज अदा और नियाज फतिया करने की अपील की गई। एसडीएम ने ताजिएदारों से नई परंपरा न डालने के लिए अपील की।

 एसडीएम ने लोगों को कोरोना से बचाव के लिए भी जागरूक किया । उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की वजह से सरकार ने लोगों को संक्रमण के खतरे से बचाने के लिए लॉकडाउन की व्यवस्था कर कई नियम कायदे बनाए हैं। कोरोना वायरस संक्रमण की वर्तमान स्थिति को देखते हुए मोहर्रम पर ताजिया रखकर कोई जुलूस नहीं निकाला जाएगा। किसी भी धार्मिक स्थल के बाहर ताजिया न रखें। उन्होंने ने कहा कि मोहर्रम के त्योहार पर शांति व्यवस्था को लेकर अनुमंडल क्षेत्र में संवेदनशील स्थलों सहित 57 स्थलों पर दंडाधिकारी एवं पुलिस की प्रतिनियुक्ति की गई है, कहा मुस्लिम संप्रदाय की मिली जुली -जुली आबादी  को ध्यान में रखते हुए इस पर्व के अवसर पर विशेष नजर रखी जा रही है, उन्होंने कहा कि इन अवसरों पर असामाजिक तत्वों द्वारा धार्मिक संस्थानों  एवं धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का प्रयास किया जा सकता है साथ ही इस उद्देश्य से सोशल मीडिया का भी प्रयोग किया जा सकता है ,इसलिए अफवाहों फैलाने वाले तत्वों की गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है और यदि किसी के द्वारा इस तरह की अफवाह फैलाई जाती है तो त्वरित कार्रवाई की जाएगी। 

भ्रमण के दौरान डीएसपी ने मुहर्रम पर्व शांति से मनाने के लिए एवं कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए लोगों को गाइडलाइन का पालन करने की अपील की गयी। डीएसपी गनपती ठाकुर  ने कहा कि कोई भी पर्व हो, हमें आपसी भाईचारा का संदेश देता है। इसलिए लोग पर्व को आपस में मिल जुलकर एवं कोविड-19 को लेकर सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों का पालन करके ही मनाएं। उन्होंने अपील किया कि जिला प्रशासन के निर्देश के आलोक में इस बार कोरोना को लेकर ताजिया का जुलूस नहीं निकाला जाएगा। लोग अपने घरों में ही नियाज फतिया करे। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

Find Us on Facebook

Trending News