BIHAR NEWS : हवस में पागल हत्यारे साधू को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ग्रामीणों ने ली राहत की साँस

BIHAR NEWS : हवस में पागल हत्यारे साधू को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ग्रामीणों ने ली राहत की साँस

BAGAHA : बगहा पुलिस जिला के चौतरवा पुलिस ने हवस में पागल हत्यारे साधु मोतीलाल यादव को गिरफ्तार कर लिया है। साधु को शुक्रवार के मध्य रात्रि में गिरफ्तार किया गया। जिसे पुलिस जेल भेजने की तैयारी कर रही है। बगहा एसडीपीओ कैलाश प्रसाद ने बताया कि विगत 23 सितंबर को दियारा क्षेत्र के मठिया रेता मे गन्ना की खेत में एक 40 वर्षीय महिला तारा देवी की निर्मम हत्या साधु मोती लाल यादव ने किया था। कथित साधु मोतीलाल यादव ने धारदार हथियार से महिला का गला काट कर दो टुकड़ा कर दिया था। वहीं साथ मे खेत में काम कर रही उसकी 15 वर्षीय पुत्री को भी घायल कर दिया था। इसके अलावे वह गांव में घूम कर अन्य लोगों को भी धमकी देने लगा था। जिससे पीड़ित परिवार सहित गांव वाले भय से भयभीत थे। ग्रामीण ग्राम रक्षा दल बनाकर साधु से अपनी सुरक्षा कर रहे थे। यहां तक की पूरे गांव का कोई भी सदस्य खेतों में जाने के पहले अपने साथ धारदार हथियार लेकर जाया करता था। साधु के गिरफ्तारी से क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली है। 

गिरफ्तार साधु मोतीलाल यादव ने बताया कि अब पछतावा हो रहा है। अपने करने पर पछता रहा हूं। साधु जो भी काम करता था। प्लानिंग के साथ किया करता था। साधु पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए अपना हुलिया भी बदल लिया था। अपने बाल और दाढ़ी को कटवा कर सादगी में रहने लगा था। चौतरवा थानाध्यक्ष शंभूशरण गुप्ता ने बताया कि शुक्रवार की रात्रि में छापेमारी चल रही थी। उसी दौरान गन्ने के खेत से एक भागते हुए व्यक्ति को पुलिस वालों ने देखा। जिसे शक के आधार पर धर दबोचा गया। उन्होंने बताया कि साधु को पकड़े जाने के बाद पूछताछ किया गया। जिसमें साधु ने अपना नाम रतवाल निवासी नारायण दास बताया। लेकिन शक के आधार पर साधु को थाने लाया गया जहां पर उसकी पहचान मोतीलाल यादव के रूप में हुई। 

मठिया रेता में छठिया घाट के समीप साधु ने महिला की हत्या की थी। उसी के पास कुछ दूरी पर साधु पुलिस के हत्थे चढ़ गया। हालांकि पकड़े जाने के बाद साधु कई तरह के बहाने बना रहा था। इसके गिरफ्तार होने के बाद मृतका के पति ने कहा कि अब मेरे पत्नी को शांति मिलेगी। घटना के बाद आज चैन से सो पाऊंगा। उसने बताया कि अब बच्चों को भी घर बुला लूंगा। साधु की गिरफ्तारी का खबर जैसे ही गांव में पहुंची आसपास के गांव के लोग थाने में पहुंचकर साधु को देखने लगे। सभी लोग तिरस्कार भरे शब्दों का प्रयोग साधु के लिए कर रहे थे। ग्रामीणों ने बताया कि साधु के डर से महिलाएं खेतों की तरफ नहीं जाती थी। जबकि गांव के पुरुष भी खेतों में काम करने समूह में ही जाना शुरू कर दिए थे।

बगहा से माधवेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News