गोपालगंज में सिपाही हत्याकांड का पुलिस ने किया गिरफ्तार, 3 दिन पहले नाले में मिली थी लाश

गोपालगंज में सिपाही हत्याकांड का पुलिस ने किया गिरफ्तार, 3 दिन पहले नाले में मिली थी लाश

GOPALGANJ : गोपालगंज नगर थाना पुलिस ने पुलिस लाइन में तैनात सिपाही अजीत कुमार सिंह की हत्याकांड का खुलासा कर लेने का दावा किया है। पुलिस लाइन में तैनात सिपाही अजीत कुमार सिंह का 3 दिनों पूर्व पुलिस लाइन के समीप मंदिर के पास से नाले से शव बरामद हुआ था। अजीत कुमार सिंह पुलिस लाइन से 3 दिनों से लापता था। मृतक सिपाही अजीत कुमार सिंह सिवान के महाराजगंज का रहने वाला था। पुलिस लाइन में तैनाती से पहले वह एडीजे 2 के यहां तैनात था। जिसे वहां से हटा कर पुलिस लाइन में भेजा गया था।


बता दें की अजीत का शव 28 जुलाई को जैसे ही तड़के नाले में पड़े होने की सूचना मिली। सूचना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई थी। इसके साथ ही गोपालगंज नगर थाना पुलिस के लिए भी यह बड़ी चुनौती थी की आखिर एक सिपाही की हत्या या उसकी मौत कैसे हुई। मामला नगर थाना के सरेया वार्ड नंबर 13 स्थित पुलिस लाइन के समीप का था। एसपी आनंद कुमार ने बताया कि सिपाही अजीत कुमार सिंह के शव मिलने के बाद नगर थाना में अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। एफआईआर दर्ज करने के बाद नगर थाना पुलिस के द्वारा शव बरामदगी के आसपास के जगह के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया था। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर और आसपास के घरों की जब पुलिस ने निगरानी की तब एक युवक मौके से घटना के दिन से लापता था। छानबीन के बाद पुलिस ने आरोपी युवक को यूपी से गिरफ्तार किया। आरोपी युवक का नाम प्रवीण कुमार है और वह मृतक सिपाही अजीत कुमार सिंह का परिचित था। 

एसपी आनंद कुमार ने कहा कि मृतक सिपाही के आरोपी के बयान पर हत्या में प्रयोग किया गया टाइल्स और उस पत्थर के टुकड़े को भी बरामद किया गया है। जिससे सिपाही के सर पर हमला कर उसकी हत्या की गई थी। एसपी ने कहा कि सर पर चोट लगने के बाद सिपाही खुद नाले के समीप पहुंचा था। जिसे बाद में आरोपी ने धक्का देकर नाले में गिरा दिया और उसके बाद उसकी मौत हो गई। 

वही इस मामले में गिरफ्तार आरोपी प्रवीण कुमार ने बताया कि वह पुलिस लाइन के समीप मंदिर में भंडारा में सहयोग करता था। वह सिपाही अजीत कुमार सिंह का परिचित था। अजीत कुमार सिंह बिहार में शराबबंदी होने के बाद भी रोज शराब पीता था। वह खुद सिपाही होकर कोलड्रिंक में शराब मिलाकर शराब का सेवन करता था। बहरहाल गोपालगंज पुलिस ने अभी तक सिपाही मौत के कारणों का खुलासा नहीं किया है। वही मृतक सिपाही को शराब की सप्लाई कहाँ से होती थी। इसका भी खुलासा नहीं हो सका है।

गोपालगंज से मनान अहमद की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News