नालंदा में पुलिस ने मिनी शराब फैक्ट्री का किया पर्दाफाश, होम्योपैथी दवा से बनाई जा रही थी विदेशी शराब, एक धंधेबाज गिरफ्तार

नालंदा में पुलिस ने मिनी शराब फैक्ट्री का किया पर्दाफाश, होम्योपैथी दवा से बनाई जा रही थी विदेशी शराब, एक धंधेबाज गिरफ्तार

NALANDA : बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बाद भी इस अवैध धंधे से जुड़े तस्कर आए दिन अलग-अलग हथकंडो को अपनाकर अन्य प्रदेश से शराब लाकर बेचने एवं बिहार में ही फैक्ट्री बनाकर नकली शराब बनाने का काम कर रहे हैं। आए दिन इस तरह की खबरें सामने आती रहती है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शराबबंदी पर समीक्षा बैठक के बाद बड़े से लेकर छोटी अधिकारी भी शराबबंदी को पूर्णरूपेण सफल बनाने में जुटे हुए हैं। सख्ती के बावजूद इस अवैध व्यवसाय से जुड़े लोग अपने कारनामों से बाज नहीं आ रहे हैं। 

ताजा मामला दीपनगर थाना क्षेत्र का है जहाँ सुबह-सुबह उत्पाद थाना की पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक मिनी शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। उत्पाद इंस्पेक्टर विजय कुमार सिंह ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली की दीपनगर थाना क्षेत्र के मेंघी नगमा में होम्योपैथिक दवाई का दुरुपयोग कर नकली विदेशी शराब बनाने का धंधा चलाया जा रहा है। 

उत्पाद विभाग की टीम ने सूचना के आधार पर शराब बनाने वाले स्थल की घेराबंदी करते हुए छापेमारी कर एक धंधेबाज विकास कुमार को गिरफ्तार करते हुए मौके से 180 बोतल में 18 लीटर होम्योपैथिक दवा, डाइल्यूशन, हिपर सल्फर 200 के अलावे अलग-अलग ब्रांडेड के विदेशी शराब की खाली बोतल, रेपर और कोरक बरामद किया गया। उत्पाद विभाग की मानें तो नए साल में इसका उपयोग करने के लिए धड़ल्ले से होम्योपैथिक दवा का दुरुपयोग कर नकली ब्रांडेड विदेशी शराब का निर्माण किया जा रहा था। वही गिरफ्तार आरोपी से इस मामले में पूछताछ चल रही है कि और कौन-कौन लोग इस गोरखधंधे में लिप्त हैं। फिलहाल पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी हुई।

नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News