अब राजधानी में नहीं होगी पुलिस बल की कमी, सेक्शन में बंटकर कार्य करेंगे पुलिस के जवान

अब राजधानी में नहीं होगी पुलिस बल की कमी, सेक्शन में बंटकर कार्य करेंगे पुलिस के जवान

PATNA : राजधानी पटना में कार्यरत पुलिस के जवान पर सेक्शन में बंटकर काम करेंगे। हरएक सेक्शन नें पुलिस के पांच जवान होंगे और जो उनमें सबसे सीनियर होंगे उन्हें प्रभारी बनाया जायेगा। इस बात की जानकारी पटना सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार ने दी है। 

उन्होंने बताया कि बल की समस्या पुलिस के लिए हमेशा बनी रहती है। विभाग में जितने भी जवान है, उन सभी का महत्व अपराध पर नियंत्रण और विधि-व्यवस्था के साथ-साथ अन्य गतिविधियों के दौरान बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है। पुलिस बल की संख्या कम होने की वजह से कई बार ऐसा होता है कि खोजने पर भी ये पर्याप्त संख्या में एक जगह जुट नहीं हो पाते है। वहीं कई बार ऐसा देखा जाता है कि कुछ जवान बिना किसी सूचना के गायब हो जाते है। जिसकी वजह से क्राइम कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है। 

डीआईजी ने बताया कि अभी पटना में हवलदार एवं सिपाही को मिलाकर तकरीबन 9 हजार पुलिस जवान कार्यरत है। हर एक जवान का भरपूर और प्रभावी उपयोग करने के लिए वे अपने स्तर से एक व्यवस्था लागू करने जा रहे है। उन्होंने बताया कि सभी हजार जवानों को उन्होंने सेक्शन में बांटने का फैसला किया है। इसके लिए 1200 सेक्शन बनाया जायेगा। हर सेक्शन में 5 पुलिसकर्मी शामिल होंगे और जो उनमें सीनियर होगा वह प्रभारी होगा। 

राजेश कुमार ने बताया कि इस मामले को लेकर पटना जिला के एसएसपी और डीएसपी को 20 फरवरी तक पूरा कर लिये जाने का आदेश दिया गया है। 

उन्होंने बताया कि सेक्शन में कार्यरत जवानों को अपराधग्रस्त इलाकों में पेट्रोलिंग के साथ-साथ छापेमारी के लिए भी भेजा जायेगा।  

डीआईजी ने बताया कि सिटी एसपी और एसपी जिनमें ग्रामीण एसपी भी शामिल होंगे उन्हें 10-10 सेक्शन दिये जायेंगे, ताकि वे उनसे छापेमारी अभियान चलाएं। वहीं शेष बचे सेक्शन को पुलिस लाईन के अलग बैरक में रखा जायेगा, ताकि विशेष परिस्थिति में उनका उपयोग किया जा सके। 

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News