पुलिस की गुंडागर्दी: नाबालिक को जबरन लूट का आरोपी बनाने के लिए पुलिस ने राइफल के कुंदे और राॅड से मारकर किया गंभीर, एसएसपी ने दिए जांच के आदेश!

पुलिस की गुंडागर्दी: नाबालिक को जबरन लूट का आरोपी बनाने के लिए पुलिस ने राइफल के कुंदे और राॅड से मारकर किया गंभीर, एसएसपी ने दिए जांच के आदेश!

GAYA : बिहार के गया में पुलिस की दादागिरी सामने आई है. गया जिले के डोभी थाना की पुलिस का दुस्साहस वाला कारनामा एक नाबालिग युवक की जान पर भारी पड़ गया है। पुलिस ने नाबालिक सुभाष को जबरन छोटू बताने के लिए राइफल के कुंदे और राॅड से बेरहमी से पिटाई की. युवक को गंभीर हालत में मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है. युवक की स्थिति नाजुक है!  वहीं, मेडिकल में भर्ती युवक के परिजनों को अब पुलिस डरा धमका भी रही है. पुलिस धमकाने के अंदाज में मेडिकल पहुंची और परिजनों को जमकर हड़काया. वहीं,  इधर कई और निर्दोषों की भी पिटाई किए जाने की बात सामने आ रही है।

लूट में किसी छोटू को तलाश रही है पुलिस

बता दे कि इसी हफ्ते डोभी थाना के मनी पुल के समीप एक कबाड़ी कारोबारी के साथ लूट की घटना हुई थी. करीब 9 लाख की लूट के मामले में पुलिस कार्रवाई कर रही थी, कि इसी क्रम में छोटू नाम के युवक का नाम पुलिस के सामने आया था. छोटू की तलाश में पुलिस ने उसके भाई सुभाष को पकड़ लिया. इसके बाद सुभाष उर्फ अयंश से पुलिस ने कहा कि तुम स्वीकारो कि तुम छोटू हो, सुभाष ने इससे इनकार किया तो पुलिस ने राॅड और राइफल के कुंदे से और केहुने से उसे बेरहमी से मारना शुरू कर दिया. पुलिस की बेरहमी से पिटाई से सुभाष की हालत नाजुक हो गई. जिसके बाद पुलिस ने उसे छोड़ दिया और परिजन किसी तरह से गंभीर हालत में लेकर उसे मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचे। 

वही इस संदर्भ मे सुभाष के पिता ने सुरेंद्र पासवान  ने बताया कि मेरा बेटा सुभाष पुलिस के सामने गिड़गिड़ाता रहा कि वह छोटू नहीं है, लेकिन पुलिस रुकी नहीं बल्कि उसे राइफल के कुंदे से और राॅड से पीटती रही. गंभीर हालत में परिवार वालों के पास छोड़कर पुलिस वाले निकल गए! वहीं गंभीर हालत में  मेडिकल में भर्ती सुभाष ने बताया कि उसे बेरहमी से मारपीट की गई है. पैर में रॉड-राइफल के कुंदे से मारा गया, जिसके दाग सामने हैं. वही राइफल के कुंंदे और केहुने से पीठ में भी मारा गया. वहीं आंख में भी चोट आई है. 4 बार जंगल में ले जाकर उसे पुलिस ने पीटा. 

सुभाष के सुरेंद्र पिता सुरेंद्र पासवान ने पुलिस अधिकारियों से  मांग किया है कि इस तरह की घटना करने वाली डोभी थाना की पुलिस पर कार्रवाई की जाए. जानकारी हो कि छोटू और सुभाष दोनों भाई हैं  सुभाष के अभी 18 वर्ष पूरे भी नहीं हुए हैं, किंतु पुलिस ने उसे इतना बेरहमी से मारा है कि उसका भविष्य परिजनों को अंधकारमय दिख रहा है। वहीं इस संबंध में गया की एसएसपी हरप्रीत कौर ने बताया कि इस तरह का मामला सामने आ रहा है, मामले की जांच की जाएगी. जो उचित कार्रवाई होगी वह की जाएगी। 


Find Us on Facebook

Trending News