हार्डवेयर व्यवसायी पप्पू मंडल हत्याकांड का आरोपी शूटर दिलखुश यादव गिरफ्तार

हार्डवेयर व्यवसायी पप्पू मंडल हत्याकांड का आरोपी शूटर दिलखुश यादव गिरफ्तार

शूटरों को 50 हजार रूपये और एक एक मोबाइल दे कर करायी थी हत्या 

गोपालपुर थाना में एक लूट, झंडापुर में एक लूट एवं नवगछिया में एक लूट व एक हत्या के मामले हैं दर्ज

नवगछिया :  पुलिस ने छापेमारी कर शार्प शूटर छोटू यादव का भांजा गोपालपुर थाना क्षेत्र के डिमहा निवासी दिलखुश यादव को गिरफ्तार कर लिया है. दिलखुश यादव की गिरफ्तारी नवगछिया पुलिस ने भागलपुर के मंगलम हॉस्पिटल के पास से की है. नवगछिया एसपी सुशांत कुमार सरोज ने जानकारी देते हुए कहा कि दिलखुश यादव एक शातिर अपराधी है. हत्या लूट जैसे जघन्य आपराधिक मामलों में वह वांछित रहा है. नवगछिया पुलिस जिला के गोपालपुर, नवगछिया एवं झंडापुर ओपी में इनके विरुद्ध हत्या एवं लूट के मामले दर्ज हैं। दिलखुश यादव की गिरफ्तारी पुलिस के लिए एक बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है। 

दिलखुश गोपालपुर थाना में एक लूट, झंडापुर में एक लूट एवं नवगछिया में एक लूट व एक हत्या में फरार चल रहा था। इस दौरान वह कई बार पुलिस की चंगूल से बच निकलने में कामयाब रहा. सोमवार को गुप्त सूचना मिली कि दिलखुश यादव भागलपुर में है. सूचना के आलोक में एसडीपीओ दिलीप कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम के द्वारा छापेमारी की गई। छापेमारी में दिलखुश यादव को भागलपुर में पुलिस ने गिरफ्तार किया. गिरफ्तारी के दौरान वह अपनी पहचान को छुपा रहा था. पुलिस फिर भागलपुर से नवगछिया लेकर आई और पहचान का सत्यापन कर उसे गिरफ्तार किया.

मामा के गैंग में सुपारी किलर का करता था काम

 एसपी ने कहा कि नवगछिया पुलिस जिले में हुए कई आपराधिक घटनाओं में उन्होंने अपनी संलिप्तता की बात स्वीकार की है. दिलखुश यादव अपने मामा कुख्यात छोटुवा यादव के गिरोह का सदस्य हैं. सुपारी लेकर हत्या जैसे घटना को अंजाम देता है. इसके अलावा सड़क पर वाहन चालकों से लूट की घटना को अंजाम देता था. इलाके के अन्य अपराधियों के संदर्भ में भी उन्होंने पुलिस को कई अहम जानकारी दी है. पुलिस उनके सहयोगी अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

राजेश यादव से 50 हजार व मोबाइल लेकर की थी पप्पू मंडल की हत्या

नवगछिया के नया टोला वार्ड नंबर 23 में हुए चंद्रशेखर मंडल उर्फ पप्पू मंडल की हत्या 26 फरवरी को हुई थी. नयाटोला के राजेश यादव से 50 हजार नगद एवं प्रत्येक शूटर के लिए एक एक मोबाइल देने की सुपारी लेकर दिलखुश यादव ने अपने सहयोगी अपराधियों के साथ मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया था. राजेश यादव

Find Us on Facebook

Trending News