पुलिस को मिली बड़ी सफलता, राजीव अपहरण कांड का मुख्य आरोपित गिरफ्तार

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, राजीव अपहरण कांड का मुख्य आरोपित गिरफ्तार

लखीसराय: खबर लखीसराय थाना क्षेत्र अंतर्गत बिलौरी गांव से है जहां गत वर्ष 13 नवंबर की सुबह छात्र राजीव कुमार के अपहरण मामले में फरार मुख्य आरोपित आशुतोष कुमार उर्फ गंगेश को पुलिस ने पटना जिला के फतुहा बाजार स्थित शिवम रेडीमेड दुकान से गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार आरोपित वैशाली जिले के जुरावनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत चकसिंगार गांव का रहने वाला है. लखीसराय थाना में थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह और एसडीपीओ रंजन कुमार ने गिरफ्तार आरोपित से पूछताछ की और बुधवार को उसे जेल भेज दिया राजीव के अपहरण में आशुतोष उर्फ गंगेश ने अहम भूमिका निभाई थी.

इसने ही अपने दोस्तों के साथ राजीव को चकङ्क्षसगार दियारा में छिपा कर रखा था राजीव के मोबाइल सिम से ही उसके घर वालों को फोन कर 30 लाख की फिरौती देने नहीं तो हत्या कर देने की धमकी दी थी राजीव रोज की तरह 13 नवंबर 2020 की सुबह अपने घर से साइकिल से कोचिंग सेंटर के लिए निकला था रास्ते में बिलौरी-लखीसराय पथ पर पहले से घात लगाए चार पहिया वाहन पर सवार चार की संख्या में अपराधियों ने हथियार के बल पर उसे अगवा कर लिया था अपहरण के बाद अपहर्ताओं ने राजीव को पहले पटना जिले के बख्तियारपुर थाना क्षेत्र में रखा इसके बाद वहां से उसे वैशाली जिले के सबसे दुर्गम क्षेत्र चकङ्क्षसगार दियारा क्षेत्र में छिपा कर रखा था छात्र राजीव अपहरण कांड में एसपी सुशील कुमार और एसडीपीओ रंजन कुमार के नेतृत्व में गठित पुलिस की एसआइटी ने वैज्ञानिक तरीके से जांच करके मात्र 24 घंटे के अंदर अपहृत राजीव को सकुशल वैशाली जिला अंतर्गत चकंसिंगार दियारा से बरामद कर लिया था.

पुलिस ने इस अपहरण कांड में कार के चालक सहित कुल 10 लोगों को अभियुक्त बनाया था इसमें पुलिस अपहरण के मुख्य साजिश कर्ता बिलोरी गांव से रागिनी कुमारी और मिल्टन कुमार उर्फ रोहित राज एवं पटना जिले के बख्तियारपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ददौर निवासी बादल कुमार को गिरफ्तार कर पहले ही जेल भेज चुकी है.गिरफ्तार आरोपित आशुतोष पुलिस से बचने के लिए फतुहा में एक रेडीमेड दुकान में काम करने लगा सूचना मिलने पर लखीसराय थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने एसआइ मुकेश कुमार वर्मा, देव कुमार के नेतृत्व में पुलिस की टीम को मंगलवार को फतुहा भेजा जहां से उसे गिरफ्तार कर लिया उधर वैशाली जिले के दीपक सिंह, पलटू सिंह, जितेंद्र सिंह, कार चालक के विरुद्ध कुर्की की कार्रवाई करने का आदेश एसडीपीओ रंजन कुमार ने कांड के जांच अधिकारी को दिया है बताया जा रहा है कि संपत्ति विवाद में छात्र का अपहरण किया गया था फिरौती की मांग एकमात्र बहाना था, अपहरण कर के उसकी हत्या कर देने की योजना थी.



Find Us on Facebook

Trending News