पटना में पूर्व मुखिया हत्याकांड मामले में पुलिस ने 3 को किया अरेस्ट, DSP बोले- एक एक को खोज कर लाएंगे....

पटना में पूर्व मुखिया हत्याकांड मामले में पुलिस ने 3 को किया अरेस्ट, DSP बोले- एक एक को खोज कर लाएंगे....

PATNA : पटना पुलिस को पूर्व मुखिया हत्या मामले में एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है, जब हत्या मामले के संलिप्त तीन अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूरे मामला राजधानी पटना में 16 दिन पूर्व हुए पूर्व मुखिया संजय वर्मा की हत्या से जुड़ा है। इस मामले में पुलिस ने 3 क्रिमिनल को गिरफ्तार किया है। तीनों अपराधी पूर्व मुखिया संजय वर्मा की हत्या में शामिल थे। पुलिस ने तीनों हत्यारों की गिरफ्तारी को बड़ी सफलता बताया है। 8 नवंबर को पटना के दुल्हीनबाज़ार में हुए पूर्व मुखिया के ब्लाइंड मर्डर केस का खुलासा कर लिया है। हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त रागीश कुमार उर्फ मुनीम शर्मा के तीन गुर्गों को गिरफ्तार कर हत्या के कारणों और उसमें शामिल लोगों की पहचान भी कर ली है। रागीश कुमार दुल्हीनबाज़ार थाना इलाके के भीमनीचक गांव का रहनेवाला है। 

हत्याकांड में शामिल तीनों अपराधियों को जिनमें शूटर और लाइनर दोनों हैं। इन सभी को पटना पुलिस ने गिरफ्तार कर इस ब्लाइंड मर्डर केस में बड़ी सफलता पाई है। लाइनर के रूप में मुखिया संजय वर्मा के घर से निकलने की जानकारी मंटू कुमार ने दी थी जो भीमनीचक का हीं रहनेवाला है। वहीं दो अन्य अपराधी चंदन कुमार महाबलीपुर का और दूसरा बिकु बाडीचक का निवासी है। ये तीनों पालीगंज अनुमंडल के हीं रहनेवाले है। मुखिया हत्याकांड पटना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती थी। क्योंकि इसमें हत्या का कोई निश्चित कारण पता नहीं चल पा रहा था। इसको लेकर पटना सिटी एस पी वेस्ट ने एक टीम गठित की थी। जिसमें पालीगंज डी एस पी मोहम्मद तनवीर अहमद,के साथ तीन थानेदार शामिल थे। 


पालीगंज डी एस पी ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को बताया कि हत्या का कारण पंचायत चुनाव था। चुनावी रंजिश में मुख्य अभियुक्त रागीश शर्मा ने आनेवाले पंचायत चुनाव में अपना वर्चस्व जमाने को लेकर यह साजिश रची और मृतक मुखिया के गाँव के ही एक लड़के मंटू शर्मा को एक महीना पहले एक मोबाइल दिया और उससे पल पल की जानकारी लेता रहता था और आखिर में आठ नवंबर की सुबह मॉर्निंग वॉक करने निकले मृतक संजय वर्मा पर ताबड़तोड़ गोलियाँ चला कर उसे मौत के घाट उतार दिया। 

मंटू शर्मा ने मृतक के घर से निकलने की जानकारी शूटर्स को दी थी। सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनपर कानूनी कार्रवाई करते हुए सभी को जेल भेज दिया है। वहीं इन तीनो की निशानदेही पर रागीश शर्मा को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी में जुट गई है। बताते चले कि दुल्हीनबाज़ार में आठ नवंबर की सुबह मॉर्निंग वॉक के दौरान वहां के चर्चित मुखिया और जद यू के जिला उपाध्यक्ष संजय वर्मा को गोली मारकर हत्या कर दी थी। जिससे इलाके में काफी आक्रोश था। पुलिस के लिए यह हत्या एक अनबुझी पहेली की तरह थी। जिसमे हत्या के एक हफ्ते तक कोई सुराग हाथ नहीं लग रहा था।

पटना ग्रामीण से सुमित कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News