बालू के धंधेबाजों को गाड़ी निकालने में थाने के अधिकारी करते थे मदद, निबट गए दो पुलिस अधिकारी

बालू के धंधेबाजों को गाड़ी निकालने में थाने के अधिकारी करते थे मदद, निबट गए दो पुलिस अधिकारी

LAKHISARAI : बालू के अवैध धंधे में एक बार फिर से पुलिस की वर्दी को दागदार करने का मामला सामने आया है। जहां थाने में पोस्टेड अवर निरीक्षक बालू के धंधेबाजों को उनके ट्रकों को निकालने में मदद करता था। वहीं थाने के पुलिस निरीक्षक की भी बालू के धंधेबाजों के साथ संलिप्तता सामने आई है।  मामले में एसपी द्वारा जब इसकी जांच कराई गई तो उसके काले कारनामे का सच सामने आ गया। जिसके बाद दोनों पुलिस अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

मामला लखीसराय जिले के सूर्यगढ़ा थाने से जुड़ा है। जहां अवर निरीक्षक के पद पर कार्यरत रामनारायण के खिलाफ यह आरोप है वह बालू के धंधेबाजों के संपर्क में है और उनकी गाड़ियों को पार करने में मदद कर रहा है। बताया गया कि उसके खिलाफ लंबे समय से शिकायतें मिल रही थी। जिसके बाद कार्रवाई की गई

मोबाइल में मिला खास नंबर

बताया गया बीते 28 जुलाई को अवर निरीक्षक के मोबाइल फोन की जांच की गई, तो उसके फोन में जमुई डॉक्टर के नाम से एक नंबर( 8210958543) सेव मिला। इस नंबर पर व्हाट्स अप पर कई बार वह चैंटिंग करता था। बड़ी बात यह है कि यह चैटिंग ज्यादातर रात के 3 से 4 बजे के बीच होते थे। जबकि उक्त अवधि में रामनारायण की कोई ड्यूटी नहीं होती थी। 

ट्रक के थे वह चार नंबर

इस चैंटिंग में चार अंकों का जिक्र कई बार किया गया है। वहीं दूसरी तरफ से उन चार अंकों के बारे में कई मैसेज हैं। मैसेज में आनेवाले चार नंबरो के बारे में जब अवर निरीक्षक से पूछताछ हुई तो उसने बताया कि वह ट्रक का नंबर है। इस ट्रक को बालू के ढुलाई के लिए इस्तेमाल किया जाता था।

किया गया निलंबित

मामले में बालू के धंधेबाजों के सांठगांठ की पुष्टि होने के बाद लखीसराय एसपी ने तत्काल कार्रवाई करते हुए एसआई रामनारायण को तत्काल प्रभाव ने निलंबित कर दिया है। इस दौरान एसपी ने कहा है कि इस तरह के कृत्य से पुलिस की छवि को आम लोगों के बीच धूमिल करने का प्रयास किया गया है।

थाने के पुलिस निरीक्षक पर भी गिरी गाज

मामले में एसआई राम नारायण के साथ थाने के पुलिस निरीक्षक विंध्याचल प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की गई है। जांच के बाद लखीसराय एसडीपीओ ने पुलिस निरीक्षक के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की अनुशंसा की है। जांच में बताया गया है कि  पुलिस निरीक्षक द्वारा अपने फायदे के लिए अवैध बालू लदे ट्रक को   पकड़ने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

Find Us on Facebook

Trending News