सारण में लोगों के संदिग्ध मौत के बाद पुलिस ने की ताबड़तोड़ छापेमारी, अबतक 8 आरोपी गिरफ्तार

सारण में लोगों के संदिग्ध मौत के बाद पुलिस ने की ताबड़तोड़ छापेमारी, अबतक 8 आरोपी गिरफ्तार

CHHAPRA : मकेर और अमनौर प्रखंड के सीमावर्ती क्षेत्रों में कुछ लोगों की संदिग्ध स्थिति में मृत्यु होने की सूचना के बाद सारण पुलिस ने अपनी कार्रवाई को और तेज करते हुए चार और लोगों की गिरफ्तारी की है। साथ ही कुछ ऐसे लोगों की भी गिरफ्तारी करने की तैयारी में है जो शराब बिक्री व धंधे के मास्टरमाइंड है। एसपी के द्वारा गठित टीम ने मकेर और अमनौर थाना एवं सीमावर्ती क्षेत्रों में सघन छापेमारी प्रारंभ की। विशेष टीम द्वारा सूचना का संग्रह कर शराब कारोबारी को गिरफ्तार किया गया तथा जगदीशपुर गांव के जनता बाजार में दो कमरे की दुकाननुमा घर से भारी मात्रा में देशी और विदेशी शराब  एवं मिलावटी शराब बनाने के कई  उपकरण आदि बरामद किए गए। इस मामले में 20 जनवरी को 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया। जिनमें वीरेंद्र महतो उर्फ मयन महतो, उषा देवी, चौकीदार गणेश माझी, रोहित कुमार शामिल है। इस कांड के बाद तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर 22 जनवरी को चार अन्य सुखेश्वर महतो, विट्ठल ,राजेश पंडित ,सनी सिंह को भी गिरफ्तार किया गया। मालूम हो कि इस कांड के उद्भेदन एवं वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए अपर पुलिस अधीक्षक अंजनी कुमार के नेतृत्व में एसआईटी टीम का गठन किया गया है। जिसमें चार डीएसपी समेत कुल 20 पुलिस पदाधिकारियों को शामिल किया गया है। इनके द्वारा लगातार तकनीकी एवं पारंपरिक अनुसंधान के माध्यम से छापेमारी की जा रही है और शराब बनाने और बेचने वाले कारोबारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इतना ही नहीं सप्लाई चैन में सम्मिलित अभियुक्तों की पहचान की जा रही है। मौत की लगातार सूचना प्राप्त होने के बाद प्रभावित क्षेत्रों में टास्क फोर्स एवं गठित विशेष छापेमारी दल के द्वारा अभियान चलाया जा रहा है।

अभी तक की कार्रवाई पर एक नजर

 18 जनवरी से 22 जनवरी के बीच चलाए गए अभियान में 872 छापेमारी की जा चुकी है। इसके अंतर्गत 99 मामले दर्ज किए जा चुके हैं और 194 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। जबकि 269 लीटर विदेशी शराब और 2450 लीटर देसी शराब के अलावे 1016 लीटर स्प्रिट बरामद किया गया है। इस तरह कुल 3735 लीटर शराब जप्त किया गया है और शराब बेचने और खरीदने के प्रयुक्त हुए 11 वाहनों को जप्त किया गया है। इसी तरह 1 जनवरी 2022 से 22 जनवरी 2022 तक यानी कि नए साल में 22 दिनों के अंदर 3154 छापेमारी की गई है। इसके तहत 270 कांड दर्ज किए गए हैं। 403 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। 690 लीटर विदेशी शराब ,5898 लीटर देसी शराब ,2487 लीटर स्प्रिट बरामद की गई है। इस तरह इन 22 दिनों में 9076 लीटर शराब बरामद किए गए हैं और 24 वाहन जप्त किए गए हैं। जबकि पिछले साल की बात करें तो पूरे 1 साल में 10544 छापेमारी की गई है। 3680 कांड दर्ज किए गए हैं जबकि 4703 गिरफ्तारी की गई है। पूरे 1 साल में 84075 लीटर विदेशी शराब और 121357 लीटर देसी और स्प्रिट जप्त किया गया है। इस तरह 1 साल में 205433 लीटर शराब जब किए गए और इस अवधि में 557 वाहनों को जप्त किया गया है।

पुलिस पदाधिकारी भी नपे

साल 2021 में मद्य निषेध अधिनियम के तहत 3680 कांड दर्ज किए गए थे और इसके तहत 4703 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया था। मध निषेध कानून के क्रियान्वयन में लापरवाही बरतने वाले 9 पुलिस पदाधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की गई। इनमें चार पुलिस पदाधिकारी, चार चौकीदार और एक होमगार्ड के जवान शामिल हैं। सबसे बड़ी बात है की इन लोगों में से 4 को हवालात की हवा खिलाई गई है। साल 2016 से अब तक इस जिला में 27 पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इनमें आठ पुलिस पदाधिकारी को तो सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है।  सारण एसपी की माने तो उनके अनुसार सारण पुलिस मध् निषेध अधिनियम को लागू करने के लिए लगातार प्रभावी कार्रवाई कर रही है। एक बार फिर सारण एसपी ने जिले के लोगों से नशा नहीं करने और मादक द्रव्य आदि का सेवन नहीं करने की अपील की है। साथ ही शराब का धंधा करने वाले को कड़ी चेतावनी दी है और कहा है कि यदि धंधा करते पाए गए तो बक्से नहीं जाएंगे। इनकी जगह जेल होगी।

छपरा से संजय भारद्वाज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News