बेटी के गुम होने की सूचना देने गए पिता को पुलिस ने डांटकर भगाया, दो दिन बाद नदी में मिली किशोरी की लाश

बेटी के गुम होने की सूचना देने गए पिता को पुलिस ने डांटकर भगाया, दो दिन बाद नदी में मिली किशोरी की लाश

KAIMUR : जिले में पुलिस ने एक ऐसा काम किया है, जिसके बाद लोग उनकी कार्यशैली पर सवाल उठाने लगे हैं। यहां एक लापता नाबालिक किशोरी की तलाश करने में पुलिस लापरवाही बरतती है। फिर, जब दो दिन बाद उसका शव बरामद होता है, उसे भी लाने की लिए गाड़ी की ठेले पर जैसे तैसे बांधकर किशोरी के घर पहुंच जाती है। गुमशुदगी से लेकर मौत के बीच जो बात सामने आई है, वह पुलिस के काम पर संदेह खड़े कर रही है। 

मामला जिले के मोहनिया थाना क्षेत्र से जुड़ा है। जहां के महरो कला गांव की रहनेवाली 15 साल की पुष्पा कुमारी बीते 28 जून को शौच के लिए घर से निकली थी। लेकिन उसके बाद वापस घर नहीं लौटी। परिजनों ने काफी खोजबीन की लेकिन युवती नहीं मिली तो 30 जून की सुबह मोहनिया थाने को सूचना देने गए

पुलिस ने पिता को डांटकर भगा दिया

बताया गया कि किशोरी के गुम होने की सूचना थाने पहुंचे परिजनों की मदद करने की जगह पुलिस ने उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। यहां कार्यरत थाना प्रभारी उसे तलाश करने की जगह परिजनों पर ही अपना गुस्सा निकाल दिया और उन्हें थाने से डांट डपटकर भगा दिया। 

कैमूर जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के बंदीपुर गांव के पास दुर्गावती नदी से 15 वर्षीय युवती की डेड बॉडी मिली है। मौके पर पहुंची रामगढ पुलिस डेड बॉडी को जैसे-तैसे ठेले पर बांध कर थाने लाई। शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है। फिर पीड़ित द्वारा 30 जून की दोपहर मोहनिया थाने को लिखित आवेदन दिया गया। पुलिस द्वारा आवेदन लेकर लड़की को खोजने की बात कह परिजनों को भेज दिया गया। इस दौरान परिजनों ने दो लोगों को नामजद भी किया था, लेकिन पुलिस ने उन्हें पकड़ने की कोशिश नहीं की।

दुर्गावती नदी में मिली लाश

किशोरी के गुम होने के दो दिन बाद रामगढ़ थाना क्षेत्र स्थित दुर्गावती नदी में एक लड़की की लाश तैरती हुई मिली। युवती की लाश को ले जाने के लिए एक गाड़ी तक भी पुलिस उपलब्ध नहीं करा सकी और लाश को ठेले पर जैसे तैसे बांधकर उसके थाने ले आए पहुंच गई। जब बात परिजनों को पता चली तो रामगढ़ थाना पहुंचे, जहां युवती की पहचान की। परिजनों का कहना था कि अगर पुलिस सही समय पर कार्रवाई करती तो उनकी बेटी को बचाया जा सकता था। 

फिलहाल, पुलिस ने सदर अस्पताल भभुआ में लड़की का पोस्टमार्टम करा कागजी कार्रवाई पूरी करते हुए डेड बॉडी परिजनों को सौंप दिया। पुलिस का कहना है कि लड़की के घरवालों द्वारा दो लोगों को आरोपित बनाया गया है। कानूनी कार्रवाई होगी।

Find Us on Facebook

Trending News