पटना में हुए कई लूट कांडों का पुलिस ने किया उद्भेदन, हथियार के साथ आधा दर्जन बदमाशों को किया गिरफ्तार

पटना में हुए कई लूट कांडों का पुलिस ने किया उद्भेदन, हथियार के साथ आधा दर्जन बदमाशों को किया गिरफ्तार

PATNA : पटना से सटे मसौढ़ी में 3 अगस्त की मध्य रात्रि धनरूआ थाना अंतर्गत मोरियावां-कादिरगंज रोड में दो मोटरसाइकिल पर सवार छह अज्ञात अपराधियों द्वारा एक व्यक्ति की स्कूटी, मोबाइल एवं अन्य सामानों की लूट की घटना को अंजाम दिया गया था। लूटपाट करने के बाद सभी अपराध कर्मी मोरियावां से साईं मोड होते हुए अतरपुरा वाले रोड की ओर भाग गए थे। घटना की सूचना जैसे ही थानाध्यक्ष धनरूआ दीनानाथ सिंह को मिली। उन्होंने पुलिस पदाधिकारियों और बल के साथ थाना क्षेत्र के विभिन्न चौक चौराहों पर चेकिंग एवं घेराबंदी प्रारंभ कर दी। पुलिस की दबिश को देखते हुए चेकिंग के दौरान एक मोटरसाइकिल पर सवार कुछ संदिग्ध लड़के पुलिस को देख कर भागने लगे व कुछ दूर जाकर वाहन और कुछ लूटे हुए सामान को छोड़कर अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए। जिसके बाद पुलिस ने मोटरसाइकिल और कुछ संदिग्ध सामान को जप्त कर लिया। तत्पश्चात मामले की गंभीरता को देखते हुए वरीय पुलिस अधीक्षक पटना एवं नगर पुलिस अधीक्षक पूर्वी पटना के निर्देशन में सहायक पुलिस अधीक्षक मसौढ़ी के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया। 

टीम में धनरुआ,मसौढ़ी एवमं पुनपुन थाना अध्य्क्ष के साथ कई पुलिस पदाधिकारियों को शामिल किया गया। गठित टीम के द्वारा बरामद मोटरसाइकिल एवं अन्य सामान के आधार पर त्वरित अनुसंधान प्रारंभ किया गया। अनुसंधान के दौरान स्थानीय तथा पूर्व के आरोपित अपराध कर्मियों से पूछताछ कर जांच शुरू की गई। साथ ही गुप्तचरों का भी सहयोग लिया गया। अनुसंधान के दौरान गुप्त सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम रेड बीघा के पिंटू कुमार पिता भूषण प्रसाद के पास कांड में लूटी गई स्कूटी देखा गया है। 

इस सूचना पर सशस्त्र बल के साथ ग्राम रेड बीघा स्थित पिंटू कुमार के घर पर छापेमारी की गई। पिंटू कुमार के पास से कांड में लूटी गई स्कूटी गाड़ी और कुछ सामान बरामद किया गया। पिंटू कुमार से जब गहराई से पूछताछ की गई तो उसने अपना अपराध स्वीकार किया तथा घटना के दिन अपने साथी सुनील कुमार, अजीत कुमार, रविकांत कुमार, सोनू कुमार, मंटू कुमार, अविनाश कुमार, विकास कुमार, चंदन कुमार और साहिल कुमार की घटना में संलिप्त होने की बात स्वीकार की। सभी अपराधियों की गिरफ्तारी के उपरांत अभियुक्तों से पूछताछ किए जाने पर उनके द्वारा धनरूआ थाना और मसौढ़ी थाना क्षेत्र में किये गए विभिन्न लूट कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार की। साथ ही गिरफ्तारी उपरांत अभियुक्तों के पास से धनरूआ कांड में लूटे गए वाहन के अतिरिक्त धनरूआ थाना कांड में लूटी गई बाइक भी बरामद की गई। 

गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ करने पर यह बात भी सामने आई कि उनके द्वारा विभिन्न कांडों में लूटा गया जेवरात आदि को बेलदारीचक स्थित देव ज्वैलर्स के मालिक चंदन कुमार पिता सहदेव प्रसाद ग्राम केलहुचक थाना मसौढ़ी को बेचा जाता था। तत्पश्चात पुलिस ने तुरंत देव ज्वेलर्स के मालिक चंदन कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार कर जब चंदन कुमार से पूछताछ सुरु हुई तो पूछताछ के क्रम में देव ज्वेलर्स के मालिक चंदन कुमार ने भी अपनी अपराधियों से संलिप्तता स्वीकार की। छानबीन के दौरान यह पाया गया की उक्त लूटेरा गिरोह एक नवीन गिरोह है जो सड़क पर आने जाने वाले राहगीरों से छिनछोढ़ एवं लूट की घटना को अंजाम दे रहा है। इस गिरोह के अधिकांश सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस गिरोह के कुछ सदस्य अभी भी फरार हैं जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छापेमारी जारी है। इस गिरोह के उद्भेदन तथा सदस्यों की गिरफ्तारी से क्षेत्र में ऐसे अपराध की घटनाओं में कमी आने की प्रबल संभावना है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से एक देसी कट्टा,एक जिंदा कार्टूश,8 मोबाईल फ़ोन,6600 नगद एवं 8 मोटरसायकिल को बरामद किया गया है।

पटना से सुजीत की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News