पुलिस ने ठग गिरोह का किया पर्दाफाश, लोन दिलाने के नाम पर करता था लाखों की ठगी

पुलिस ने ठग गिरोह का किया पर्दाफाश, लोन दिलाने के नाम पर करता था लाखों की ठगी

BOKARO : बोकारो में बैंक डिफॉल्टर कारोबारियों से करोड़ों रुपया की लोन देने के नाम पर उनसे पैसे की ठगी करने का मामला सामने आया है. इस मामले में ठग गिरोह के सदस्य महेश प्रसाद उर्फ मसीही प्रकाश को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार व्यक्ति ने देश के विभिन्न शहरों से लोगों से ठगी की है. अबतक अनुमान के मुताबिक वह 9300000 रुपये की ठगी कर चुका है. 

दरअसल बोकारो के दो कारोबारी अशोक कुमार और विक्रम सनन ने चास पुलिस को लिखित शिकायत कर 16 लाख रूपए की ठगी किए जाने की लिखित शिकायत की थी. पुलिस ने मामले का अनुसंधान करते हुए मामले का उद्भेदन किया. जिसमें दोनों कारोबारियों के यहां लोन के पूर्व सर्वे करने आए महेश प्रसाद को गिरफ्तार कर लिया गया. जानकारी के मुताबिक गुजरात का यह ठग गिरोह ई-मेल के माध्यम से सीए से संपर्क करता था. उस दौरान वे लोग वैसे कारोबारियों की सूची मांगते थे, जो बैंक से डिफॉल्टर है और जिन्हें लोन की आवश्यकता है. 

इसके बाद यह गिरोह गुजरात के बड़े व्यवसायी होने की बात कह उनको झांसे में लेता था. इसके बाद उनसे रकम के मुताबिक 1% राशि अग्रिम के तौर पर बैंक अकाउंट पर जमा करा लेते थे. बोकारो के दोनों व्यवसायियों से अस्सी अस्सी लाख रुपए लोन देने के नाम पर आठ आठ लाख रुपए बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करवाया. उसके बाद ठग ने मोबाइल बंद कर दिया. इस घटना के बाद थाने में दर्ज की गई शिकायत के मुताबिक सर्वे करने आए हुए अभियुक्त महेश को जो मूल रूप से चाईबासा का रहने वाला है और वर्तमान में गुजरात में रहता है. पहले उसे गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तारी के बाद यह बात सामने आई कि यह व्यक्ति नवीन पटेल और पार्थ पटेल के साथ मिलकर ठगी का काम करता है. यह सभी बड़े कारोबारी होने की बात कह व्यवसायियों को झांसे में डाल कर उनसे ठगी करते है.

गिरफ्तार ठग ने मामले में अपने को फंसता देख बोकारो के दोनों कारोबारियों को उनसे ली गई रकम में से बारह लाख रुपये लौट दिए. एसडीपीओ चास बहामन टूटी ने बताया कि जाँच के क्रम में ठगों का एक बैंक अकाउंट का भी पता चला. जिसमे वे व्यापारियों से पैसा जमा करवाते थे. बैंक डिटेल्स के मुताबिक उड़ीसा की रहने वाली अंजला मिश्रा से तेरह लाख, पटना के अमरदीप से 19 लाख, दिल्ली के मोहम्मद इस्लाम से 16 लाख, हैदराबाद के एस बी डेयरी से 28 लाख और योगी नायडू से 6 लाख और सूरत के अंशू डेवलपर से 17 लाख की ठगी की है. इस गिरोह के दूसरा आरोपी आनंद बड़ोदरा अहमदाबाद में रह कर ठगी का काम करता है. 

बोकारो से मृत्युंजय की रिपोर्ट



Find Us on Facebook

Trending News