2020 में इन राजनेताओं ने देश को अचानक कहा अलविदा

2020 में इन राजनेताओं ने देश को अचानक कहा अलविदा

DESK : कुछ दिन और शेष  बचे है इस 2020 को खत्म होने में जो की किसी के लिए भी एक अच्छा साल नहीं रहा है. यह 2020 तो चला जायेगा पर उसके निशान नहीं जा पायेगी. इस साल को अगर हम एक बुरे साल की लिस्ट में रखते है या अगर इसे अब तक का मनहूस साल कहे तो इसमें कोई गलती नहीं होगी .न जाने कितनी अभाग्य घटनाएँ हुई इस साल और न जाने कितने लोगों ने दुनिया को अलविदा कहा. ऐसे ही देश की राजनीति में अपना महान योग्यदान देने वाले वरिष्ठ नेताओं ने हमे अचानक ही अलविदा कहा. आइये जानते है कौन थे वे लोग :

पहला नाम है भारत के 13 वें राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी की जिन्होंन 84 वर्ष की उम्र में देश को अलविदा कहा. उनकी मृत्यु 31 अगस्त को लंग इन्फेक्शन की वजह से हो गयी.आपको बता दें की वो लम्बें समय से अस्पताल में भर्ती थे.

दूसरा नाम है बिहार के केंद्रीय मंत्रि रह चुके राम विलास पासवान जिन्होंने 8 अक्टूबर को आख़िरी साँस ली. 74 साल के राम विलास पासवान हार्ट सर्जरी की वजह से कुछ हफ्ते से अस्पताल में एडमिट थे. 

असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई भी लम्बे समय से कोरोना से लड़ते हुए 23 नवम्बर को अपनी आख़िरी साँस ली.

लम्बे समय से बीमार चल रहे मध्यप्रदेश के गवर्नर लालजी टंडन ने भी 21 जुलाई को देश को अलविदा कह दिया. 

कांग्रेस के लीडर व सोनिया गाँधी के पोलिटिकल सेक्रेटरी अहमद पटेल की भी 25 नवम्बर को देहांत हो गया. 

इन सब के अलावा भंवर लाल शर्मा,गोपीनाथ गजपति नारायण देओ, अजित जोगी जैसे कई वरिष्ठ राजनेताओं ने इस साल दुनिया को  अलविदा कह दिया, जिनकी जगह शायद ही कोई भर पाए. 

Find Us on Facebook

Trending News