पटना में बसों और ऑटो रिक्शा की होगी फिटनेस और प्रदूषण की जांच, कमिश्नर ने डीटीओ को दिया निर्देश

पटना में बसों और ऑटो रिक्शा की होगी फिटनेस और प्रदूषण की जांच, कमिश्नर ने डीटीओ को दिया निर्देश

PATNA: राजधानी पटना के सिटी बसों, स्कूल बसों और ऑटो रिक्शा जैसे व्यवसायिक वाहनों का प्रदूषण और फिटनेस जांच कैम्प लगाकर होगी। इस संबंध में डीटीओ को निर्देश दिया गया है। पटना में पत्रकारों से बातचीत करते हुए आयुक्त आरएल चोंग्थू ने कहा कि पूर्व से ही यह शिकायत मिल रही है कि पुराने सिटी बसों, स्कूल बसों एवं ऑटो रिक्शा का परिचालन बिना प्रदूषण जांच एवं फिटनेस जांच के किया जा रहा है, जिससे बच्चों एवं आम नागरिकों के सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है तथा वातावरण प्रदूषित होता है। 

आयुक्त ने कहा कि पुराने सिटी बसों, स्कूल बसों, ऑटो रिक्शा एवं अन्य व्यवसायिक वाहनों के फिटनेस एवं प्रदूषण की जांच कैम्प लगा कर एमवीआई से कराने का निर्देश जिला परिवहन पदाधिकारी को दिया गया है। आज जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा पुराने सिटी बसों, स्कूल बसों, ऑटोरिक्शा एवं ऐसे सभी व्यवसायिक वाहनों के प्रदूषण एवं फिटनेस जांच के कैम्प लगाने के पूर्व प्रदूषण एवं फिटनेस जांच के डेमो लगाया गया, जो सफल रहा। 

आयुक्त ने कहा कि जिला परिवहन पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि वाहनों की जांच के क्रम में सिर्फ आॅन लाईन वाहनों के प्रदूषण एवं फिटनेस पर वाहनों को जांच के दौरान वाहन को रिलिज नहीं किया जायेगा, बल्कि सभी वाहनों के प्रदूषण एवं फिटनेस का गांधी मैदान में कैम्प लगाकर फिजिकली जांच किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदूषण एवं  फिटनेस जांच से प्रदूषण पर नियंत्रण होगा तथा वातावरण स्वच्छ एवं संरक्षित रहेगा। उन्होंने कहा कि जो वाहन प्रदूषण एवं फिटनेस जांच में उपयुक्त नहीं पाये जाते हैं ऐसे वाहनों का परमिट रद्द कर नियमानुसार वाहनों के मालिकों पर कार्रवाई की जायेगी। 

आयुक्त ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में चलने वाली ऑटोरिक्शा के दोनों तरफ हरी पट्टी में यह अंकित रहेगा कि ‘ग्रामीण क्षेत्रों के लिए’। साथ ही यह भी स्पष्ट रूप से अंकित रहेगा कि चालक का नाम, परमिट संख्या, परमिट की अवधि। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों के लिए सभी आॅटोरिक्शा के दोनों तरफ की लाल पट्टी में यह स्पष्ट रूप से अंकित रहेगा कि ‘शहरी क्षेत्रों के लिए।’ साथ ही साथ चालक का नाम, परमिट संख्या एवं परमिट की अवधि अंकित रहेगा। उन्होंने कहा कि इसका अनुपालन नहीं करने वाले आॅटोरिक्शा का परमिट रद्द कर परिचालन बंद कर दिया जायेगा।

इस अवसर पर जिलाधिकारी  कुमार रवि ने कहा कि पुराने सिटी बसों, स्कूल बसों, ऑटो रिक्शा का फिटनेस एवं प्रदूषण जांच बस स्टैण्ड, ऑटो स्टैण्ड एवं गांधी मैदान में कैम्प लगाकर कर जिला परिवहन पदाधिकारी के देख-रेख में एमवीआई द्वारा की जायेगी। जिस वाहन का फिटनेस एवं प्रदूषण जांच उपयुक्त नहीं होगा उस उसी समय परमिट रद्द कर चलान काटकर परिचालन बंद किया जायेगा। अनुपयुक्त वाहनों का परिचालन रद्द किया जायेगा। 

Find Us on Facebook

Trending News