अतिक्रमण से मुक्त होंगे पटना के तालाब और जलाशय, डीएम ने किया अनुमंडल स्तर पर टीम का गठन

अतिक्रमण से मुक्त होंगे पटना के तालाब और जलाशय, डीएम ने किया अनुमंडल स्तर पर टीम का गठन

पटना. जलकर  एवं तालाबों को अतिक्रमणमुक्त कराने हेतु पटना जिले के दानापुर, मसौढ़ी, पालीगंज एवं बाढ़ अनुमंडलों में अनुमंडलवार टीम का गठन किया है। समाहर्त्ता-सह-अध्यक्ष, प्रबंध समिति, मत्स्य पालक विकास अभिकरण, पटना डॉ. चंद्रशेखर सिंह संबंधित अनुमंडल के भूमि सुधार उप समाहर्त्ता की अध्यक्षता टीम गठित की है. 

इसके तहत संबंधित अनुमंडल के भूमि सुधार उप समाहर्त्ता,  अनुमंडलान्तर्गत सभी अंचलाधिकारी / सभी राजस्व अधिकारी,  जिला मत्स्य पदाधिकारी-सह -मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी, मत्स्य पालक विकास अभिकरण, पटना द्वारा नामित पदाधिकारी,  अनुमंडलान्तर्गत संबंधित राजस्व कर्मचारी एवं अंचल अमीन शामिल रहेंगे. 

 पटना सदर अंचलान्तर्गत जलकर एवं तालाबों को चिन्हित करते हुए अतिक्रमण हटाने के संदर्भ में भूमि सुधार उप समाहर्ता, पटना सदर / पटना सिटी एवं जिला मत्स्य पदाधिकारी - सह - मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी, पटना की अध्यक्षता में दो टीम (ए+बी) का गठन किया गया है.  टीम -ए में भूमि सुधार उप समाहर्ता, पटना सदर, अंचलाधिकारी, पटना सदर, ब्रज किशोर सिंह, मत्स्य विकास पदाधिकारी, संबंधित हल्का के राजस्व कर्मचारी, अंचल कार्यालय, पटना सदर, चन्दन भट्ट, अंचल अमीन, पटना सदर शामिल हैं. वहीं  टीम - बी में भूमि सुधार उप समाहर्ता, पटना सिटी , जय प्रकाश सिंह, मत्स्य विकास पदाधिकारी, पटना, नितेश कुमार, राजस्व अधिकारी, पटना सदर, संबंधित हल्का के राजस्व कर्मचारी, अंचल कार्यालय, पटना सदर, मुकेश कुमार / परवेज आलम, अमीन शामिल हैं. 

पटना डीएम डॉ. सिंह द्वारा जिला मत्स्य पदाधिकारी से प्राप्त सूची को संलग्न करते हुए निदेश दिया गया है कि संबंधित अंचलाधिकारी जिला मत्स्य पदाधिकारी से समन्वय स्थापित कर अतिक्रमित जलकर / तालाबों के संदर्भ में विधिवत अतिक्रमणवाद प्रारंभ कर संबंधित जलकर / तालाबों को अतिक्रमण मुक्त करायेंगे. अतिक्रमण मुक्त कराने के पश्चात् संबंधित थाने के स्टेशन डायरी में इसकी प्रविष्टि कराना सुनिश्चित करेंगे। साथ ही अंचलाधिकारी एवं संबंधित थानाध्यक्ष को यह भी निदेशित किया गया है कि यदि उक्त जलकर / तालाबों पर दुबारा अतिक्रमण होता है, तो संबंधित के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराते हुए विधिसम्मत कार्रवाई करना सुनिश्चित करेंगे। वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना से अपने स्तर से संबंधित थाना को निर्देशित करने का अनुरोध किया गया है।

डीएम ने कहा कि आदतन अतिक्रमणकारियों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कर कठोर कार्रवाई की जाएगी। संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी को इसका पर्यवेक्षण / नियमित अनुश्रवण करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि जलाशयों में मत्स्योद्योग का विकास कर मत्स्य उत्पादकता बढ़ाना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। इसमें किसी तरह का व्यवधान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


Find Us on Facebook

Trending News