सदर अस्पताल नवादा की लचर व्यवस्था हुई उजागर, प्रसव से तड़पती महिला की सुध लेने नहीं पहुंचे कर्मी

सदर अस्पताल नवादा की लचर व्यवस्था हुई उजागर, प्रसव से तड़पती महिला की सुध लेने नहीं पहुंचे कर्मी

नवादा. नवादा सदर अस्पताल प्रबंधन का संवेदनहीन चेहरा एक बार फिर से सामने आया है जिसे लेकर खूब किरकिरी हो रही है। सोमवार को मुफस्सिल थाना क्षेत्र के तेतरिया गांव निवासी निखिल चौहान की 28 वर्षीय पत्नी रीता देवी अपने परिजनों के साथ प्रसव के लिए ई-रिक्शा से सदर अस्पताल नवादा आ रही थी। अस्पताल पहुंचते ही परिसर में ही महिला ने शिशु को जन्म दे दी। जिसके बाद ई-रिक्शा उसी अवस्था में महिला को उतार कर चलते बने। 

प्रसव के बाद महिला के पति दौड़ कर स्वास्थ्य कर्मी को बुलाने के लिए प्रसव वार्ड पहुंचा। लेकिन ड्यूटी पर तैनात रहे स्वास्थ्य कर्मी आनाकानी करते रहे। जिसके बाद पास रहे एक आम व्यक्ति ने उसे व्हीलचेयर  प्रसव वार्ड पहुंचा दिया। तब जाकर नर्सों ने आगे की प्रक्रिया शुरू की। 

वहीं सदर अस्पताल में नवजात शिशु ने जन्म दिया है, जो बिल्कुल पूरी तरह स्वस्थ है। इस पूरे मामले पर नवादा के उप अधीक्षक डॉ अजय कुमार से जब सवाल किया गया तो उन्होंने कहा ऐसी कोई जानकारी नहीं है। मामला की जानकारी होने पर जांच की जाएगी।


Find Us on Facebook

Trending News