प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना का बिहार में शुभारंभ, सुशील मोदी बोले- असंगठित क्षेत्र के कामगारों को मिलेगा लाभ

प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना का बिहार में शुभारंभ, सुशील मोदी बोले- असंगठित क्षेत्र के कामगारों को मिलेगा लाभ

PATNA : दशरथ मांझी श्रम एवं अध्ययन संस्थान में आयोजित समारोह में ‘प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना’ का औपचारिक शुभारंभ करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि असंगठित कामगारों के लिए केन्द्र सरकार की यह एक ऐसी पेंशन योजना है जिसमें 55 से 200 रुपये प्रतिमाह अंशदान करने वालों को 60 वर्ष की आयु के बाद प्रतिमाह 3 हजार रुपये पेंशन मिलेगी। कामगार जितनी राशि अंशदान करेंगे, उतनी ही राशि हर महीने सरकार भी जमा करेगी। योजना के अन्तर्गत अल्प समय में बिहार के 33 हजार असंगठित कामगारों का निबंधन हो चुका है। 

सुशील मोदी ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने बिहार के कुल 94.42 लाख गरीबों को बीमा का सुरक्षा कवच प्रदान किया है। बिहार में 4.12 करोड़ जनधन खाताधारक के अलावा 66.29 लाख पीएम सुरक्षा बीमा धारक व 28.13 लाख पीएम जीवन ज्योति बीमा धारक हैं। अगर कोई जनधन खाताधारक दोनों बीमा योजनाओं में शामिल हैं तो उसकी मृत्यु के बाद उसके परिजनों को 6 लाख रुपये तक की सहायता राशि मिलेगी।

बिहार के डिप्टी सीएम ने कहा कि शून्य जमा पर खुले जनधन खातों में बिहार के गरीबों ने 8,567 करोड़ रुपये जमा कराया है। जनधन खाताधारकों को स्वतः 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा, बिना किसी शर्त के 2 हजार रुपये का कर्ज और कुछ निश्चित शर्तों के साथ 10 हजार तक ओवरड्राफ्ट की सुविधा मिलती है। बिहार में अटल पेंशन योजना के 12.29 लाख लाभार्थी है। 

उन्होंन कहा कि मुद्रा योजना के तहत जहां पूरे देश में साढ़े तीन करोड़ को 7.5 लाख करोड़ का ऋण दिया गया है वहीं बिहार के 26 लाख लोगों के बीच बैंकों ने 22,328 करोड़  वितरित किया है।

Find Us on Facebook

Trending News