नक्सली चंदन के परिवारवालों का कबूलनामा, प्रद्युमन ने थमाया चंदन के हाथों में हथियार

नक्सली चंदन के परिवारवालों का कबूलनामा, प्रद्युमन ने थमाया चंदन के हाथों में हथियार

नवादा : नवादा में मृत नक्सली की पहचान करने रजौली थाना पहुंचे परिजनों को रविवार की रात शव सुपुर्द कर दिया गया. मृत नक्सली चंदन प्रसाद नालंदा जिला के इस्लामपुर थाना के खड़ंगी बिगहा गांव का रहने वाला था. मृत चंदन का भाई रमेश कुमार और फूफा रामस्वरुप यादव शव लेने पहुंचे थे.

उसके फूफा ने बताया कि वह जमीन विवाद को लेकर परेशान चल रहा था. गांव के दबंगों ने उसकी जमीन जोत ली थी. इसी परेशानी के बीच हार्डकोर नक्सली प्रद्युम्न शर्मा से उसका संपर्क हो गया और उसके बहकावे में आकर चंदन ने बंदूक थाम संगठन में शामिल हो गया था। उन्होंने यह भी बताया कि चंदन के गांव से महज दो-ढाई किलोमीटर की दूरी पर प्रद्युम्न का गांव-घर है.मृतक नक्सली चंदन के भाई ने बताया कि मुठभेड़ से ठीक 15 दिन पहले चंदन घर से निकला था। चंदन चार भाईयों में सबसे बड़ा था. उसकी शादी हो चुकी है  और उसकी दो बेटियां भी हैं.

24 को मुठभेड़ में मारा गया था चंदन 

रजौली के जंगलों में हार्डकोर नक्सली प्रद्युम्न शर्मा का इनपुट मिलने के बाद 22 जनवरी की शाम से सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया था। जिसके बाद 24 जनवरी को रतनपुर में मुठभेड़ के दौरान चंदन मारा गया था। चन्दन के शरीर में आठ गोली लगी थी, जिसके बाद वह मौके पर ढेर हो गया था. उसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया था। लेकिन उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी। 27 जनवरी की देर शाम इस्लामपुर थाना की पुलिस के साथ पहुंचे परिजनों ने शव की शिनाख्त चंदन प्रसाद के रुप में की। पूर्व में भी इस्लामपुर का एक नक्सली पुलिस के साथ मुठभेड़ में ढेर हुआ था. 

इसके पूर्व 8 मार्च 2017 को सिरदला थाना क्षेत्र के थमकोल जंगल में हुए मुठभेड़ में चार नक्सलियों को मारा गया था। जिसमें एक नक्सली अरविन्द कुमार वर्मा उर्फ लूल्हा नालंदा जिला के इस्लामपुर थाना के ही पटनबिगहा का रहने वाला थ.। इसकी भी पहचान दो-तीन दिनों के बाद हो सकी थी.

Find Us on Facebook

Trending News