पंजाब की सियासत में प्रशांत किशोर की एंट्री !, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए बनाएंगे चुनावी रणनीति

पंजाब की सियासत में प्रशांत किशोर की एंट्री !, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए बनाएंगे चुनावी रणनीति

Desk. अगले साल होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए एक बार फिर प्रशांत किशोर रणनीति बनाएंगे. यह जानकारी खुद पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने एक टीवी चैनल के इंटरव्यू के दौरान दी. उन्होंन समाचार चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि उन्हें कांग्रेस आलाकमान की तरफ से प्रशांत किशोर से चुनावी रणनीति साझा करने को कहा गया है. ऐसे में एक बार फिर से प्रशांत किशोर की चुनावी रणनीति बनाने में एंट्री हो गयी है. बता दें कि पश्चिम बंगाल चुनाव परिणाम के बाद प्रशांत किशोर ने इस प्रोफेशन को छड़ने का ऐलान किया था.

चुनावी रणनीतीकार का प्रोफेशन छोड़ने का ऐलान

बता दें कि पंश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान टीएमसी के लिए चुनावी रणनीती बना रहे प्रशांत किशोरा ने ट्विटर के जरिये ऐलान किया था कि बंगाल में यदि बीजेपी 100 सीटें जीत जाएंगी तो वह चुनावी रणनीतिकार का प्रोफेशन छोड़ देगा. इस बीच पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी मात्र 77 सीटें ही जीत पायी थीं. चुनाव में बीजेपी 100 का आंकड़ा नहीं पार कर पायी थी. वहीं चुनाव परिणाम के बाद खुद प्रशांत किशोर ने कहा था कि वह अब यह प्रोफेशन को नहीं बनाये रख सकते हैं. वे अब चुनाव से जुड़े हुए कोई दूसरा काम करेंगे. इस बीच उनकी कांग्रेस में शामिल होने की भी खबरे मिलने लगी. लेकिन वह अभी तक कांग्रेस में शामिल नहीं हुए हैं.

सीएम अमरिंदर का बने थे सलाहकार

बता दें कि 2017 के चुनाव में प्रशांत ने कैप्टन अमरिंदर के लिए चुनाव रणनीति तैयार कर पंजाब में कांग्रेस के लिए 10 साल का सत्ता का सूखा दूर करने में अहम भूमिका निभाई थी. इसके बाद प्रशांत किशोर को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का सलाहकार बनाया गया था. अगस्त में ही पीके ने तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रमुख सलाहकार पद से इस्तीफा दे दिया था. ऐसे में अगर प्रशांत किशोर फिर पंजाब में कांग्रेस के लिए रणनीति बनाते हैं तो बतौर चुनावी रणनीतिकार इसे उनकी वापसी समझा जाएगा.

पीके ने राहुल गांधी को दी थी नसीहत

वहीं कुछ दिन पहले एक अंग्रेजी अखबार को दिए बयान में प्रशांत किशोर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कहा था कि भाजपा दशकों तक सत्ता के केंद्र में बनी रहेगी. राहुल गांधी के बारे में पीके ने कहा था उन्हें लगता है कि लोग मोदी को हटा देंगे, लेकिन ऐसा नहीं है. लोग मोदी की ताकत को समझ नहीं पा रहे हैं. जब तक आप यह न समझ सकें कि क्या बात उन्हें लोकप्रिय बना रही है तब तक उनको काउंटर नहीं कर पाएंगे.

Find Us on Facebook

Trending News