प्रशांत किशोर बोले- पीएम मोदी के राष्ट्रीय राजनीति में आने के बाद बिहार में राजनीतिक अस्थिरता का दौर शुरू हुआ

प्रशांत किशोर बोले- पीएम मोदी के राष्ट्रीय राजनीति में आने के बाद बिहार में राजनीतिक अस्थिरता का दौर शुरू हुआ

दरभंगा. मिथिलांचल के अपने दौरे पर शुक्रवार को प्रशांत किशोर दरभंगा पहुंचे। दरभंगा में उन्होंने जन सुराज के कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया और लोगों से जन सुराज की सोच के बारे में संवाद स्थापित किया। वहीं पत्रकारों से बात करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्रीय राजनीति में आने के बाद बिहार में  राजनीतिक अस्थिरता का दौर शुरू हुआ। वर्ष 2012 से 2020 के बीच में इन 10 सालों में छठवां सरकार का प्रयोग किया जा रहा है। जिससे सरकार बदली है, इससे बिहार के विकास पर बुरा असर पड़ा है और विकास की गति धीमी हुई है।

वहीं प्रशांत किशोर ने कहा कि हर बार प्रयोग में ऐसा लगता है कि इस बार का प्रयोग सबसे सफल होने वाला है। इन 10 साल का अनुभव यही बता रहा है कि सारे प्रयोग के बावजूद बिहार में जो स्थिति थी, वह पहले से खराब हुई है। राज्य में भ्रष्टाचार बढ़ा है। शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था पहले से बदतर हो गई है। राज्य में बेरोजगारों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है। जिसका परिणाम है कि लाखों की संख्या में युवक रोजगार के लिए दूसरे प्रदेश में दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं।

प्रशांत किशोर ने महागठबंधन की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि संभव है लोकसभा चुनाव तक ये लोग साथ रहे, लेकिन विधानसभा चुनाव से पहले इसमें फेरबदल संभव है। वहीं उन्होंने ने कहा कि 2 अक्तूबर से शुरू हो रहे पदयात्रा के माध्यम से बिहार के हर गांव, प्रखंड में जाना चाहते हैं और हर घर का दरवाजा खटखटाना चाहते हैं, ताकि समाज से सही लोगों को चिन्हित किया जा सके। बिहार के विकास के लिए प्रयास करने की सोच और इसके लिए जबतक सामूहिक प्रयास नहीं होगा, कोई व्यक्ति या कोई दल अकेले बिहार को आगे नहीं बढ़ा सकता है। इसलिए सामूहिक प्रयास की आवश्यकता है।


Find Us on Facebook

Trending News