प्रशांत किशोर के पुश्तैनी मकान पर प्रशासन ने चलाया बुलडोजर, यह बताया कारण

प्रशांत किशोर के पुश्तैनी मकान पर प्रशासन ने चलाया बुलडोजर, यह बताया कारण

बक्सर। कभी जदयू में नंबर दो की भूमिका में रहे और चुनावी रणनीतिकार के तौर पर प्रसिद्ध प्रशांत किशोर को सरकार ने बड़ा झटका दिया है।   प्रशासन ने उनके बक्सर स्थित घर की चारदीवारी को तोड़ दिया.जैसे ही प्रशासनिक अधिकारी सरकारी लवाजमे के साथ प्रशांत किशोर के घर के बाहर पहुंचे तो लोगों की भीड़ वहां पर लग गई। फिलहाल प्रशांत किशोर की तरफ से इस संबंध में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

बताया जा रहा है कि बक्सर में एनएच 84 को फोर लेन बनाने का काम किया जा रहा है, जिसमें प्रशांत किशोर की जमीन भी अधिग्रहित की गई है। प्रशासन का कहना है कि इसी सड़क निर्माण के लिए प्रशांत किशोर के घर की चारदीवारी और ब्रह्म स्‍थान को ध्वस्त किया गया है. हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि प्रशांत किशोर ने अभी तक इस मकान का कोई मुआवजा नहीं लिया है।

15 मिनट में पूरी की कार्रवाई
प्रशासन के अधिकारियों को उम्मीद थी कि इस कार्रवाई का लोग विरोध कर सकते हैं, ऐसे में  तेजी दिखाते हुए काम किया और सिर्फ दस से पंद्रह मिनट के अंदर ही किशोर के घर की चारदीवारी और गेट को तोड़ दिया. इस दौरान प्रशासन के इस कार्य का किसी ने विरोध नहीं किया. हालांकि लोगों के बीच यह चर्चा की बात जरूर रही कि आखिर प्रशांत कि घर की दीवार को क्यों तोड़ा गया लेकिन बाद में प्रशासनिक अधिकारियों ने अधिग्रहण की बात को स्पष्ट कर दिया.

पिता ने कराया था निर्माण

बताया जा रहा है प्रशांत किशोर के इस पुश्तैनी मकान का निर्माण उनके पिता उनके पिता श्रीकांत पांडेय ने करवाया था, हालांकि प्रशांत अब यहां पर नहीं रहते हैं.  बताया जा रहा है कि फिलहाल घर खाली पड़ा है। 

Find Us on Facebook

Trending News