नीतीश कुमार की एनडीए में वापसी की तैयारी! सुशील मोदी ने दिया बड़ा संकेत

नीतीश कुमार की एनडीए में वापसी की तैयारी! सुशील मोदी ने दिया बड़ा संकेत

PATNA : बिहार में जदयू की अंदरूनी घमासान के बीच अब इस बात की चर्चा शुरू हो गई है कि क्या नीतीश कुमार फिर से एनडीए में वापसी कर सकते हैं। पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी इस बात का संकेत दे दिया है कि नीतीश कुमार की फिर से वापसी हो सकती है। हालांकि सुशील मोदी के विपरीत भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल ने कहा था कि अब नीतीश कुमार के साथ कोई गठबंधन नहीं होगा।

केंद्रीय नेतृत्व करेगा फैसला

पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि ''लेने, नहीं लेने का कोई सवाल नहीं है। लेकिन इसके लिए मैं सक्षम नहीं हूं। राज्य इकाई किसी बड़े नेता को पार्टी में शामिल कराने के लिए सक्षम नहीं है। इसका फैसला केंद्रीय नेतृत्व लेता है। कौन आएगा, कौन नहीं आएगा...इस राजनीति को कोई नहीं जानता। 

कुशवाहा के डील के सवाल पर मांगा जवाब

सुशील मोदी ने जदयू के अंदर मचे घमासान पर कहा कि उपेंद्र कुशवाहा ने जो मुद्दा उठाया है, उसका जवाब नीतीश कुमार को देना चाहिए। स्वयं नीतीश कुमार ने कहा है कि 2025 का नेतृत्व तेजस्वी करेंगे। तो पक्का डील तो हुई है। मर्जर के बारे में भी सहमति बनी थी। उन्होंने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा ने अगर कमजोरी की बात की तो सच में जेडीयू कमजोर हो रही है। जदयू को पिछले चुनाव में 44 सीट क्यों आती, अगर जदयू कमजोर नहीं है तो। 

प्रदेश अध्यक्ष का बयान - पार्टी में उनके लिए नो एंट्री

सुशील मोदी का बयान इसलिए अहम है, क्योंकि अभी तक भाजपा के बाकी नेता कहते रहे हैं कि अब नीतीश कुमार को साथ लेने का सवाल ही नहीं उठता। सुशील मोदी ने यह बयान आज पटना में एक कार्यक्रम के बाद रिपोर्टरों के सवाल पर दिया है।  शनिवार को ही भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने नीतीश कुमार को बिहार की राजनीति में अप्रासंगिक नेता बता दिया था। कहा कि वह सब से डरे हुए मुख्यमंत्री हैं। जो समाधान यात्रा में आम लोगों से मिल नहीं रहा हो, उसे आम लोगों से डर लग रहा हो, उसे भाजपा अपने साथ नहीं लेने वाली है। पार्टी में उनके लिए नो एंट्री है। 


Find Us on Facebook

Trending News